अब आकाश में उड़ने तैयार हो रही रोबो-बी


लंदन। अब आकाश में उच्च प्रोद्योगिक क्षमता से युक्त रोबोटिक मधुमक्खी को उड़ाने को लेकर वैज्ञानिक विचार कर रहे है। बता दें इस संबंध में शोधकर्ताओं का एक दल काम कर रहा है। दरअसल, द हार्वड यूनिर्विसटी नेशनल साइंस फाउंडेशन (एनएसएफ) सर्मिथत रोबो-बी प्रोजेक्ट का लक्ष्य स्वतंत्र उड़ने में सक्षम रोबोटिक मधुमक्खी का विकास करना है। जो आगामी समय में दूर संचार के क्षेत्र में टोही, सहायता यहां तक कि कृत्रिम परागकण का काम करते हैं। रोबोटिक-बी का नेतृत्व कर रहे मुख्य अनुसंधानकर्ता रॉबर्ट वुड की टीम छोटे रोबोट का जटिल डिजायन तेजी से तैयार करने में जुटी है जो एक सीमा तक स्वायत्त तौर पर उड़ान भरने में सक्षम होगी। इस पर शोध कर रहे शोधकर्ता प्रकृति से काफी प्रभावित थे और इसी को ध्यान में रखते हुए छोटे कीड़े की तरह क्षमता युक्त, सरंचनायुक्त, स्वचालित युक्त रोबोट तैयार करने में जुटे हैं। वुड का मानना है कि पांच से दस साल में हम ऐसे रोबो-बी का निर्माण करने में सक्षम हो जाएंगे, जिसका दुनिया में इस्तेमाल किया जा सकेगा।