आपरेशन में मरीज के पेट से निकली 116 कीलें, लोहे के छर्रे और तार का गुच्छा


डाक्टरों ने मानसिक रूप से विक्षिप्त मोला शंकर के पेट का आपरेशन कर लोहे की 116 कीलें, लोहे के छर्रे और तार का गुच्छा निकाला है।

बूंदी। डाक्टरों ने मानसिक रूप से विक्षिप्त मोला शंकर के पेट का आपरेशन कर लोहे की 116 कीलें, लोहे के छर्रे और तार का गुच्छा निकाला है। यह सब सामान उसके पेट में कैसे पहुंचा, इस बारे में भोला शंकर ने कुछ नहीं बताया, लेकिन डॉक्टरों ने कहा कि भोला शंकर को लोहे का सामान खाने की आदत है।

भोला शंकर के पिता मदनलाल ने बताया कि 20 साल पहले उनका बेटा बागवानी करता था। इसके बाद वह मानसिक विक्षिप्त हो गया, तो उसने काम छोड़ दिया। उसके पेट में दर्द होता था, इसके बाद उसे डाक्टरों को दिखाया गया। डॉक्टरों ने जब भोला शंकर के पेट का स्कैन किया तो दंग रह गए, उसके पेट में 116 लोहें की कीलें, छर्रे और तार नजर आए। आपरेशन करने वाली टीम में शामिल जिला अस्पताल के डॉ. अनिल सैनी ने बताया कि इसके बाद उसका डिजिटल एक्सरे कराया गया। जिसमें ये चीजें साफ दिखाई दीं। तब चिकित्सकों ने उसका आपरेशन करने की योजना बनाई।

– ईएमएस