माल‍िक की जान बचाने कोबरा सांप से भिड़ा कुत्ता, दोनों की गई जान


जब भी वफादारी की बात की जाती है तो सबसे पहले कुत्ते को याद ‎किया जाता है। अपनी वफादारी सा‎‎बित करते हुए अपनी जा गंवा दी।
Photo/Twitter

नई द‍िल्ली। जब भी वफादारी की बात की जाती है तो सबसे पहले कुत्ते को याद ‎किया जाता है। एक बार ‎फिर इस जानवर ने अपनी वफादारी सा‎‎बित करते हुए अपनी जा गंवा दी। जब रात को २ बजे माल‍िक को कुत्ते के भौंकने की आवाज सुनी तो उसकी नींद खुली। उसने उठकर देखा तो सामने दरवाजे पर एक कोबरा सांप और उनके कुत्ते के बीच लड़ाई चल रही थी। थोड़ी देर में ही उसका प्यारा कुत्ता जमीन पर ग‍िरा पड़ा था। उसे सांप ने काट ल‍िया था। कुछ देर बाद पालतू डैलमेश‍ियन कुत्ते की भी तड़प-तड़प कर मौत हो गई। घटना ओड‍िशा के खोरधा ज‍िले की है। खोरधा ज‍िले के एक छोटे से कस्बे जटणि में अमन शरीफ अपने माता-प‍िता, चाचा-चाची और दादी के साथ रहते हैं। रात को दो बजे अचानक उन्हें अपने डैलमेश‍ियन प्रजात‍ि के कुत्ते टायसन की जोर-जोर से भौंकने की आवाज आई। शरीफ ने उठकर देखा तो सामने कोबरा सांप और टायसन की फाइट चल रही थी।

शरीफ के बताया”मैंने देखा क‍ि कुछ दूरी पर ही मुख्य दरवाजे पर टायसन सांप को मार रहा है। सांप को मारने के बाद कुछ देर में टायसन भी जमीन पर ग‍िर पड़ा। मैंने देखा क‍ि टायसन की पूंछ और चेहरे पर सांप के काटने के न‍िशान द‍िखे। एंटी वैनम इंजेक्शन के ल‍िए पशु च‍िक‍ित्सालय में फोन लगाया लेक‍िन अस्पताल बंद था। प्राइवेट वेटरनरी डॉक्टर को भी फोन लगाया लेक‍िन क‍िसी ने फोन प‍िक नहीं क‍िया। शरीफ ने आगे कहा क‍ि टायसन हमारी रक्षा करते-करते खुद अल्लाह को प्यारा हो गया। उसने हमारे पर‍िवार की अपनी जान देकर सुरक्षा की लेक‍िन हम उसकी जान नहीं बचा सके क्योंक‍ि पशु च‍िक‍ित्सालय से कोई र‍िस्पॉन्स नहीं म‍िला। इससे पहले ओड‍िशा के भद्रक ज‍िले में स‍ितंबर २०१८ की भी एक घटना सामने आई थी ज‍िसमें एक कुत‍िया और सांप के बीच जबरदस्त लड़ाई हुई थी। सांप ने उसके दो प‍िल्लों को मार द‍िया था और बाक‍ियों को भी मारने की कोश‍िश कर रहा था। तब कुत‍िया अपने बच्चों की जान बचाने के ल‍िए सांप से भ‍िड़ गई थी। लोगों ने वहां जाकर सांप को हटाया तब जाकर बाकी प‍िल्लों की जान बची पाई थी।

– ईएमएस