ऑनलाइन बाइक बेचने के चक्कर में खुद ही खाते से कट गए 52 हजार रुपए


ऑनलाइन खरीदी और बिक्री आजकल के आम चलन में शामिल हो गया है इससे जितनी सुविधा हुई उतनी ही नई परेशानी भी पैदा हुई है।

नई दिल्ली । ऑनलाइन खरीदी और बिक्री आजकल के आम चलन में शामिल हो गया है इससे जितनी सुविधा हुई उतनी ही नई परेशानी भी पैदा हुई है। क्योंकि अनजाने लिंक को क्लिक या ओके करने से पहले जरा सोच समझ लें। कहीं ऐसा न हो कि मुसीबत में फंस जाएं। ऑनलाइन कंपनी पर बाइक बेचने के लिए जिस शख्स ने विज्ञापन दिया, वह नए तरीके से ठगी का शिकार हो गया। आरोपी ने ऑनलाइन भुगतान करने के लिए उसे एक लिंक भेजा। लिंक को ओके करते ही पीड़ित के खाते में रुपये आने के बजाए हजारों रुपये निकल गए। इस बारे में रानीबाग थाने में जाकर शिकायत की।

पुलिस ने ठगी का मामला दर्ज कर सभी पहलुओं से जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक, रॉबिन मेहता ऋषि नगर, रानीबाग में रहते हैं। मुंडका इलाके में प्रिंटिंग का बिजनेस है। कुछ दिन पहले उन्होंने बुलेट बाइक को बेचने के लिए सामान बेचने वाली एक ऑनलाइन पोर्टल पर विज्ञापन दिया। रॉबिन के मुताबिक 31 मार्च रविवार की सुबह उनके पास एक शख्स का फोन आया। फोन करने वाले ने बताया कि उसे उसकी बुलेट पसंद आई है और वह उसे खरीदना चाहता है। यह भी बताया कि वह ऑनलाइन ऐप के जरिए वह पेमेंट करेगा। उसने रॉबिन के मोबाइल पर उसका लिंक भेजा और उसे ओके करने पर पेमेंट होने की बात कही। रॉबिन ने जैसे ही लिंक को ओके किया उसके खाते में रुपये आने की बजाए कट गए। जांच में पता चला कि उसके खाते से 52 हजार रुपये कट गए हैं। रॉबिन ने तुरंत फोन करने वाले से संपर्क कर सारी बात बताई। आरोपी ने उसे एटीएम कार्ड के आगे पीछे का फोटो भेजने के लिए कहा जिसके जरिए वह रुपये जमा कर देगा। यह सुनकर रॉबिन को ठगे जाने का अहसास हुआ और उन्होंने फिर से आरोपी से बात करने की कोशिश की, लेकिन उसके बाद से आरोपी का मोबाइल फोन स्विच ऑफ हो गया। रॉबिन ने रानीबाग थाने में इस बाबत शिकायत की। पुलिस ने उसकी शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है।

– ईएमएस