साल के आ‎खिर तक भारत में इंटरनेट यूजर्स की संख्या ६२.७ करोड़ हो जाएगी


इस साल के आ‎खिर तक देश में इंटरनेट यूजर्स की संख्या ६२.७ करोड़ को पार कर जाएगी जो २०१८ के ५६.६ करोड़ यूजर्स से ११ फीसदी ज्यादा होंगे।
Photo/Twitter

मुंबई। ग्रामीण भारत में ‎दिनों ‎दिन इंटरनेट की पहुंच बढ़ती जा रही है, इस साल के आ‎खिर तक देश में इंटरनेट यूजर्स की संख्या ६२.७ करोड़ को पार कर जाएगी जो २०१८ के ५६.६ करोड़ यूजर्स से ११ फीसदी ज्यादा होंगे। एक रिपोर्ट में इसके बारे में जानकारी दी गई। मार्केट रिसर्च कंपनी कानतार आइएमआरबी द्वारा जारी रिपोर्ट आइसीयूबीईटीएम २०१८ के अनुसार, जहां शहरों में इंटरनेट यूजर्स की संख्या सात फीसदी बढ़कर २०१८ में ३१.५ करोड़ हो गई थी, वहीं ग्रामीण भारत में ३५ फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई थी। अनुमान है कि ग्रामीण भारत में २५.१ करोड़ इंटरनेट यूजर्स हैं और यह संख्या २०१९ के आ‎‎खिर तक २९ करोड़ हो सकती है। कानतार आइएमआरबी की मीडिया एंड डिजिटल के प्रबंध निदेशक हेमंत मेहता ने कहा, यह देखना सुखद है कि डिजिटल क्रांति अब छोटे कस्बों और गांवों में भी फैल रही है जो शायद डाटा की सस्ती कीमतों पर इंटरनेट की उपलब्धता के कारण संभव हुआ है। भारत में मोबाइल डाटा की कीमतें दुनियाभर में सबसे सस्ती हैं।

आकड़ों के मुता‎बिक, गांवों और शहरों में पिछले साल इंटरनेट यूजर्स की संख्या में वृद्धि के मामले में बिहार ३५ फीसदी बढ़ोत्तरी के साथ सबसे ऊपर रहा। भारत में इंटरनेट उपयोग करने के मामले में स्त्री-पुरुष असमानता की खाई कम हुई है और महिलाएं देश में कुल इंटरनेट उपयोग का ४२ फीसदी उपयोग करती हैं। वे इंटरनेट पर पुरुषों के बराबर समय देती हैं।

– ईएमएस