एशिया के सबसे धनी और सबसे बड़े कर्जदार उघोगपति हैं मुकेश अंबानी


देश के सबसे अमीर इंसान रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी एशिया में भी मुकेश अंबानी से ज्यादा दौलत किसी के पास नहीं है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। देश के सबसे अमीर इंसान रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी एशिया में भी मुकेश अंबानी से ज्यादा दौलत किसी के पास नहीं है। दुनिया में मुकेश अंबानी 13वें सबसे अमीर आदमी हैं। उनकी दौलत और लाइफस्टाइल की हमेशा चर्चा होती है। अगर हम कहें कि वह भारत के सबसे ज्यादा कर्जदार आदमी हैं तो आप यकीन नहीं करने वाले है। रिपोर्ट के अनुसार मुकेश अंबानी देश के सबसे ज्यादा कर्जदार आदमी भी हैं। उनका एंपायर इतना बड़ा फैला हुआ है कि कर्ज लिए बिना वह अपना व्यापार कर ही नहीं सकते हैं। ताज्जुब की बात तो यह है कि गत 10 सालों में उन पर कर्ज साढ़े चार गुना तक बढ़ गया है। आइए आपको भी बताते हैं कि उन पर कितना कर्ज है।

एशिया के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी पर बीते 10 वित्तीय वर्षों में साढ़े 4 गुना कर्ज बढ़ गया है। अगर आंकड़ों की बात करें तो मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज पर 2010 में कर्ज 64,606 करोड़ रुपए था जो 2018 में बढ़कर 2,87,505 करोड़ रुपए हो गया। पूरे देश में किसी भी कंपनी पर इतना कर्ज नहीं है कि जितना मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज पर है लेकिन इस कर्ज के माध्यम से देश में नई-नई इंडस्ट्रीज की स्थापना हुई है जिसकी वजह से देश में रोजगार पैदा हुए हैं। इसकारण बैंक और सरकार दोनों मुकेश अंबानी की कम्पनी पर भरोसा दिखा रहे हैं।

अगर साल दर साल के हिसाब से मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज पर बढ़े कर्ज की बात करें तो वित्तीय वर्ष 2010 में रिलायंस पर 64,606 करोड़ कर्ज था। अगले वित्तीय वर्ष में मुकेश अंबानी के कर्ज में 20,000 करोड़ रुपए के इजाफे के साथ कर्ज 84,152 करोड़ रुपए हो गया। उसके अगले वित्तीय वर्ष में करीब 8,000 करोड़ के इजाफे के साथ कर्ज 92,447 करोड़ रुपए हो गया। इसी तरह से 2014 तक रिलायंस इंडस्ट्री का कर्ज 1,38,758 करोड़ रुपए हो गया। इसका मतलब यह हुआ कि 2010 के बाद के पांच सालों में मुकेश अंबानी के कर्ज में 2 गुना से ज्यादा का इजाफा हुआ है।

55.3 बिलियन डॉलर (3.83 लाख करोड़ रुपए) की संपत्ति है। खास बात यह है कि मुकेश अंबानी की संपत्ति में 2010 से लेकर 2014 तक गिरावट देखने को मिली थी। उसके बाद 2015 से लेकर 2019 तक मुकेश अंबानी की संपत्ति में बेतहाशा वृद्धि देखने को मिली है। आने वाले दिनों में मुकेश अंबानी ई-कॉमर्स सैक्टर में कदम रखने जा रहे हैं। इसके बाद उनकी संपत्ति में तो इजाफा होने की उम्मीद लगाई जा रही है,वहीं कर्ज में भी बढ़ौतरी देखने को मिल सकती है। वहीं बात आखिरी पांच सालों की करें तो 2015 में 2014 के मुकाबले करीब 22,000 करोड़ रुपए कर्ज का इजाफा हुआ जो बढ़कर 1,60,863 करोड़ रुपए हो गया। उसके बाद कर्ज में 20 हजार करोड़ रुपए का और ज्यादा इजाफा हुआ। वित्तीय वर्ष 2019 में मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज पर 2,87,505 करोड़ रुपए कर्ज हो चुका है। 2015 में इस कर्ज में 1.78 गुना की वृद्धि हुई है।

– ईएमएस