मध्यप्रदेश के श्योपुर की घटना; महिला ने एक साथ छः बच्चों को जन्म दिया लेकिन…


प्रतिकात्मक तस्वीर। (PC : Twitter)

शनिवार को मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले के अस्पताल में एक अजरजपूर्ण घटना प्रकाश में आई है। बड़ौदा की एक युवती ने यहां के जिला अस्पताल में एक साथ छः बच्चों को जन्म दिया। लगभग 35 मिनटों में जन्मे इन छः बच्चों में से 4 बेटे और 2 बेटियां थीं। लेकिन दुर्भाग्य से जन्म के कुछ ही समय में छः में से पांच बच्चों की मौत हो गई और छठ्ठे बच्चे की तबियत भी नाजूक बताई जा रही है।

युवती का सोनोग्राफी रिपोर्ट देखकर डॉक्टर के हाथ-पैर फुल गये

अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ. आरबी गोयल ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि जब युवती जिसका नाम मूर्ति सुमन बताया जा रहा है, अस्पताल प्रसूति के लिये पहुंची तो चिकित्सक ने जैसे ही सोनोग्राफी रिपोर्ट देखा, उनके हाथ-पैर फुल गये। महिला के गर्भ में उन्होने एक-दो नहीं छः बच्चे देखे। डॉक्टर ने हिम्मत रखते हुए अपनी महिला चिकित्सकों के साथ स्थिति की गंभीरता को भांपते हुए डिलीवरी के लिये आवश्यक तैयारियां कीं और सभी छः बच्चों की नोर्मल डिलीवरी करवाई। युवती की उम्र 35 वर्ष बताई जा रही है।

छः में से दो बच्चों की मौत तो डिलीवरी के तुरंत बाद ही हो गई। अन्य बच्चों का वजन भी बहुत कम था, जिनमें से तीन की मौत बाद में हुई।

दुर्लभ घटना

भोपाल की महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. मीता अग्रवाल ने मीडिया से कहा कि यह घटना अपने में आप में एक दुर्लभ मामला है। वैसे भी प्रसव के दौरान एक से अधिक बच्चों के जन्म की प्रक्रिया जटिल हो ही जाती है, लेकिन जब एक साथ छः बच्चों का जन्म हो तो स्थिति की गंभीरता को समझा जा सकता है। उन्होंने कहा कि इन्फर्टिलिटी के उपचार के वक्त स प्रकार की संभावना बढ़ जाया करती है। लेकिन यदि इस महिला ने छः बच्चों को नैगर्सिक रूप से जन्म दिया तो यह अपने आप में आश्चर्यजनक घटना है।