मेरे साथ 16 की उम्र में दुष्कर्म हुआ, मैं चुप रही : पद्मा लक्ष्मी


(Photo: Twitter/@PadmaLakshmi)

न्यूयॉर्क। अमेरिकी टीवी होस्ट पद्मा लक्ष्मी का कहना है कि उनके साथ सोलह साल की उम्र में दुष्कर्म हुआ था, लेकिन वह चुप रहीं, क्योंकि उन्हें लगता था कि इसके लिए उनपर ही उंगलियां उठाई जाएंगी।

पद्मा लक्ष्मी द्वारा लिखा गया एक लेख मंगलवार को न्यूयॉर्क टाइम्स में प्रकाशित हुआ और उसी में उन्होंने अपने साथ घटी इस घटना का जिक्रकिया है।

बीबीसी के मुताबिक, पद्मा लक्ष्मी ने यह लेख लिखने का फैसला तब किया, जब सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश पद के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पसंद ब्रेट केवनॉघ के खिलाफ कई सारे आरोप सामने आए। बेट्र पर दो महिलाओं के साथ यौन दुराचार के आरोप हैं।

लेकिन ट्रंप ने केवनॉघ का बचाव किया और दोनों महिलाओं पर ही संदेह जताया। उन्होंने ट्वीट किया, “इसमें संदेह नहीं कि यदि अगर हमला.. उस तरह का था, जैसा वे कह रही हैं, तो उन्हें या उनके प्यारे परिजनों को चाहिए था कि स्थानीय कानून प्रवर्तन प्राधिकरणों के यहां मामला दाखिल करना चाहिए था।”

उन्होंने पीड़िता क्रिस्टीन ब्लैसी फोर्ड से अपनी शिकायत सार्वजनिक करने के लिए भी कहा, ताकि “हमें तारीख, समय और स्थान का पता चल सके।”

लक्ष्मी ने लिखा है, “राष्ट्रपति ट्रम्प ने ट्वीट किया कि अगर फोर्ड ने जो कहा है, वह सच है, तो उन्हें वर्षो पहले ही पुलिस में एक रपट दर्ज करानी चाहिए थी।”

पद्मा ने कहा, “लेकिन मैं समझती हूं कि दोनों महिलाएं पुलिस को बताए बिना इतने वर्षो तक चुप क्यों रहीं। मैंने भी वर्षो तक यही किया।”

लक्ष्मी ने बताया कि 1990 के दशक में नववर्ष की पूर्व संध्या पर उनके प्रेमी ने उनके साथ दुष्कर्म किया था। उससे उनकी मुलाकात लॉस एंजेल्स में तब हुई थी, जब वह 23 वर्ष का था।

पद्मा ने कहा कि नववर्ष पूर्व की कुछ पार्टियों में हिस्सा लेने के बाद दोनों उसके घर गए, जहां पद्मा सो गईं, और जब नींद खुली तो उनका प्रेमी उनके ऊपर था।

लक्ष्मी ने लिखा है, “मैंने पूछा, ‘यह क्या कर रहे हो?’.. ‘कृपया ऐसा नहीं करो’, मैं कराह उठी। मैंने इस बारे में रपट नहीं लिखाई। न मां को बताया, न मित्रों को और पुलिस को भी नहीं बताया।”

उन्होंने कहा कि उन्हें महसूस हुआ कि यह उनकी ही गलती थी। उन्होंने कहा, “हमारे पास 1980 के दशक में दुष्कर्म के लिए कोई शब्द नहीं था। मैं समझती हूं कि वयस्क कहते- ‘उसके घर में तुम क्या कर रही थी?”‘

उन्होंने कहा कि वह समझ सकती हैं कि महिलाओं ने दुष्कर्म का खुलासा क्यों नहीं किया होगा।

उन्होंने कहा कि 32 साल हो गए हैं, “इस बारे में बात करने से मुझे कुछ हासिल नहीं होना है।”

लेकिन ट्रंप के कथ्य कि वे आरोप तत्काल नहीं लगाए गए इसलिए वे उतने सही या उतने गंभीर नहीं है, का जिक्र करते हुए पद्मा ने कहा, “यदि यौन हमले के बारे में सच कहने की हम कोई समय सीमा तय करते हैं तो हम सभी बहुत कुछ गंवा देंगे।”

पद्मा की यह कहानी सोशल मीडिया पर काफी प्रशंसा बटोर रही है।

-आईएएनएस