कोरोना वायरल कॉलर ट्यून बंद करने के चक्कर में फोन हैक न हो जाए


दुनिया भर में फैल रहे कोरोना वायरस का संक्रमण भारत में न हो इसके लिये भारत सरकार कई प्रकार के एहतियाती कदम उठा रही है। इसी क्रम में स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी मोबाईल ऑपरेटरों से कोरोना संबंधी मार्गदशर्न वाली कॉलर ट्यून डिफोल्ट बजाने की आदेश दे दिये हैं। लेकिन हर बार किसी को कॉल करने पर यही ट्यून सुन-सुन कर लोग भी अब बोर हो चुके हैं। ऐेसे में इस ट्यून से निजात पाने की जरूरत महसूस करने लगे हैं।

इसी जरूरत को भांपते हुए साईबर क्राईम करने वाले लोग भी सक्रिय हो गये हैं। कोरोना वायरस कॉलर ट्यून बंद करने के लिये किसी थर्ड पार्टी एप, या अनजानी वेबसाईट पर दिये जा रहे तरीके या कोड डायल करने से पहले तसल्ली कर लें कि दी जा रही सलाह विश्वसनीय है या नहीं। ऐसी कई वेबसाईट इंटरनेट पर उपलब्ध हो गई हैं जो कॉलर टयून बंद कराने के चक्कर में आपके मोबाईल में मेलवेर इंस्टॉल कर सकती हैं या डेटा चोरी कर सकती हैं।