5 वीं की परीक्षा देने पहुंची 6 साल की बच्ची


० शिक्षा मंत्री से अनुमति लेकर दी परीक्षा
० कृष्णा को कम्प्यूटर से लेकर योगा में महारत
भोपाल। मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के विद्यालय में परीक्षा के दौरान शिक्षक एवं अधिकारी तब दंग रह गये, जब पांचवी कक्षा की परीक्षा देने ६ साल की बच्ची पहुंची। नाम कृष्णा गुप्ता, जन्म १९ अक्टूबर वर्ष २००८ पिता अखिलेश गुप्ता और शीतल गुप्ता की मानें तो पारिवारिक माहौल के बीच बच्ची में शुरू से जिज्ञासा और अदभुत स्मरण शक्ति दिखी। उसे हर एकबार में ही याद हो जाता है। कृष्णा कम्प्यूटर चलाने, हिन्दी टाइपिंग, अंग्रेजी टाइपिंग, इंटरनेट चलाने, ई मेल ब्लाग, बनाने सहित योगा और अन्य खेलवूâद गतिविधियों में अन्य परिवार के सदस्यों को पीछे छोड़ देती है।
बिना एडमीशन के पांचवी का पर्चा हल- उम्र के इस दौर में जहां बच्चे क, ख, ग, सीख रहे होते हैं, वहीं ग्राम लोनारा की कृष्णा इस उम्र में बिना किसी शाला में प्रवेश लिए ५ वीं कक्षा का पर्चा हल किया माता पिता की मानें तो साढ़े छह साल की कृष्णा का आई क्यू टेस्ट कराया तो १५० से ज्यादा पाया गया।
शिक्षा मंत्री से मिली मंजूरी-
पिता अखिलेश गुप्ता ने बताया कि बच्ची की उम्र देखकर शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने नियमानुसार परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी। जिसके बाद परिजनों ने शिक्षा मंत्री पारस जैन और राज्य मंत्री दीपक जोशी से मुलाकात कर बच्ची को परीक्षा में बैठने की अनुमति दिलाई। पालकों के अनुसार कृष्णा को इस हुनर का अधिकारियों सहित नेताओं ने भी लोहा माना।