हम दे रहे है आपकों रेल टिकट कैंसल और रिफंड के हर सवाल का जवाब है


३ घंटे लेट ट्रेन का टिकट कैंसल करने पर कैसलेशन चार्ज नहीं

मुंबई (ईएमएस)। सामान्य भारतीय रेल यात्री के दिमाग में ट्रेनों को लेकर सबसे ज्यादा सवाल टिकट कैंसल कराने पर मिलने वाले रिफंड को लेकर होते हैं। अगर आप इस लेकर जरा भी कन्फ्यूजन में हैं तो हम आपकी मदद करने की कोशिश कर रहे है। यदि कोई कंफर्म टिकट ट्रेन छूटने के समय के 48 घंटे पहले कैंसल कराया जाता है तो कैंसलेशन चार्ज कुछ इस तरह से रहने वाले है।
एसी फर्स्ट क्लास/एग्जिक्युटिव क्लास:240, एसी 2 टायर/फर्स्ट क्लास :200 एसी 3 टायर/एसी चेयर कार/एसी 3 इकॉनमी:180, स्लीपर क्लास:120,सेकंड क्लास: 60 रुपये है।
यदि कोई कंफर्म टिकट ट्रेन छूटने के 48 से 12 घंटे पहले कैंसल कराया जाता है तो किराए का 25 प्रतिशत कैंसलेशन चार्ज के तौर पर काटा जाएगा। यदि कोई कंफर्म टिकट ट्रेन छूटने के 12 से 4 घंटे के बीच कैंसल करता है तो किराए का 50 प्रतिशत कैंसलेशन चार्ज लगेगा। यदि कंफर्म टिकट 4 घंटे पहले तक कैंसल नहीं कराया जाता है या टीडीआर (टिकट डिपॉजिट रिसीट) ऑनलाइन नहीं भरी जाती है तो कोई रिफंड क्लेम नहीं किया जा सकता है। यदि कोई आरएसी या वेटिंग लिस्ट टिकट ट्रेन छूटने के 30 मिनट पहले तक कैंसल कराया जाता है तो रिफंड मिलेगा। ई-टिकट को इंटरनेट के जरिए ही कैंसल कराया जाता है और रिफंड अमाउंट उसी खाते में जमा होगी ,जिससे पेमेंट किया था।
यदि ट्रेन किसी कारण से तय समय से 3 घंटे से ज्यादा विलंब है तो ऐसी स्थिति में टिकट कैंसल कराने पर कोई कैंसलेशन चार्ज नहीं लिया जाएगा। यदि कोई ट्रेन कैंसल होती है और आपने ई-टिकट लिया है तो आपको टीडीआर भरने की भी जरूरत नहीं है। विंडो से रिजर्वेशन लिया है और ट्रेन कैंसल हो गई है तो यात्रा के दिन सहित तीन दिन के भीतर टिकट कैंसल कराया जा सकता है। इसमें भी कोई कैंसलेशन चार्ज नहीं लगेगा। कन्फर्म तत्काल टिकट कैंसल होने की स्थिति में कोई रिफंड नहीं दिया जाएगा। यदि ट्रेन 3 घंटे से ज्यादा देर से चल रही है या कैंसल हो गई है तो आपको टीडीआर भरकर रिफंड क्लेम करना होगा। यदि आपने कई पैंसेंजर्स के लिए ई-टिकट लिया है और कुछ का टिकट कन्फर्म है और बाकी का वेटिंग या आरएसी है,इसतरह टिकट को कैंसल कराने पर कन्फर्म वालों को चार घंटे के पहले टिकट रद्द कराना होगा।