स्मार्टफोन पर पोर्न फिल्में देखना होगा मंहगा साबित


नईदिल्ली । आपत्तिजनक एप्स को डाउनलोड कर स्मार्टफोन में वायरस के खतरनाक आमंत्रण जैसा है। इस तरह के साइट पर जाने पर बहुत बार स्मार्टफोन पर खुद-ब-खुद एप्स डाउनलोड होने लगते है। इसे रोकने के लिए ऑटोमैटिकली एप्स डाऊनलोड फीचर को बंद रखें अन्यथा आपका फोन वायरस का शिकार हो सकता है। मोबाइल पर पोर्न देखना कई बार काफी मंहगा पड़ सकता है। कुछ पॉपुलर पोर्न वेबसाइट्स गैर-कानूनी तरीके से वैल्यू एडेड र्सिवस जोड़कर पैसा कमाने की फिराक में रहती हैं। जिससे एंड्रायड फोन पर पोर्न वेबसाइट खोलते ही यह वीएएस र्सिवस खुद-ब-खुद एाqक्टवेट हो जाता है और आपको पता तब चलता है जब आपके बैलेंस से पैसा कट जाता है। वीएएस सब्सक्रिप्शन्स ऑन होने की ाqस्थति में आपके बैलेंस पैसे इस तरह से खत्म हो सकते है। लिहाजा इसे लेकर पूरी तरह से सावधानी बरते। एंड्रायड स्मार्टफोन में पोर्न टिकर एक पुरानी समस्या रही है। देखने में तो यह असली जैसे ही नजर आते हैं जिससे यूजर्स अमूमन धोखा खा जाते हैं। पोर्न टिकर मोबाइल में वायरस भेजने के लिए तैयार किए जाते हैं। सभी एंड्रायड फोन किसी न किसी जीमेल आईडी से लॉग-इन होते हैं। ऐसे में आप जब ऑनलाइन पोर्न देखते हैं तो यह पता चल जाता है कि इस लॉग-इन (अमुक मेल आईडी) पर पोर्न फिल्म या सामग्री देखी जा रही है। यह आपके फोन की सेक्योरिटी और प्राइवेसी को खतरे में डाल सकता है । इस तरह से आप साइबर अपराधियों के चंगुल में भी पंâस सकते है। पोर्न साइट्स पर कुछ वायरस ऐसे होते हैं जो आपके डिवाइस को लॉक कर देते हैं। फिर उन्हें अनलॉक करने के बदले आपको ब्लैकमेल करके कुछ प्रâॉड वेबसाइट आपसे पैसे ले लेते हैं। ये आपके मोबाइल से पर्सनल डाटा भी चुराकर रख लेते हैं। इसलिए आप इसे लेकर सावधान रहे।