सोशल मीडिया बन रही पति-पत्नी के बीच झगड़े की वजह


नई दिल्ली । पेâसबुक का पासवर्ड न बताना, व्हाट्सएप का एप लॉक हमेशा बदलते रहना, घर देरी से आना, फोन पर ज्यादा बात करते रहना, रात में सोने के बाद लैपटॉप चलाते रहना, जैसी पतियों की कुछ शिकायतें महिलाओं द्वारा काउंसिंलग करने के दौरान सामने आर्इं। इस दौरान यह भी पता चला कि व्हाट्सएप और पेâसबुक पति-पत्नी के बीच विलेन के तौर पर जुड़ गया है। दिल्ली पुलिस फरवरी के आखिरी हफ्ते तक साढ़े बारह हजार से ज्यादा महिलाओं की काउंसिंलग कर चुकी है। इसमें छोटी-छोटी बातों पर तकरार को लेकर बढ़ते मामलों को देखने के बाद दिल्ली पुलिस ने ११ जिलों में २२ नए काउंसलर की नियुक्ति की है। स्पेशल पुलिस यूनिट फार वूमेन एंड चिल्ड्रेन अधिकारियों ने बताया कि पहले नानकपुरा और उत्तरी पाqश्चमी जिले में ही काउंसलर नियुक्त थी। यहां मैट्रीमोनियल शिकायतों का निपटारा किया जाता है। सबसे पहले शिकायतें सुनी जाती हैं, फिर काउंसिंलग की जाती है। इसमें वकील मुहैया कराने से लेकर एफआइआर दर्ज कराने तक शामिल है। अधिकारियों की मानें तो हाल में मैट्रीमोनियल शिकायतों की संख्या बढ़ती जा रही थी। इसे देखते हुए ११ जिलों में नए काउंसलर की नियुक्ति की गई है। काउंसलर किरन झा का कहना है कि राजधानी की भागदौड़ भरी िंजदगी में पति-पत्नी को उतना समय नहीं मिल पाता, जिससे वो एकदूसरे को अच्छी तरह से समझ सके। जिन बातों को आसानी से सुलझाया जा सकता है। उसमें भी तकरार देखने को मिलता है। अपनी बात को रखने के लिए सोशल नेटर्विकग साइट का सहारा लेते हैं। इससे महिलाओं में शक बढ़ता है कि उनकी िंजदगी में किसी और का प्रवेश हो रहा है। इसलिए ऐसे मामले बढ़ रहे हैं। अधिकारी कहते हैं कि गत वर्ष ८३७ शिकायतें मिली थीं। इनमें से १२१ में काउंसिंलग हुई और ३११ की सुनवाई हुई। वहीं २७ ऐसे मामले भी थे, जिनमें कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई। इसके अलावा ३७ मामलों को कानूनी कार्रवाई के लिए भेजा गया, जबकि ५२६ मामले पेंिंडग हैं। विशेष पुलिस के अलावा स्थानीय थाना पुलिस द्वारा भी महिलाओं की काउंसिंलग किए जाने के चलते इस वर्ष मामले बढ़े हैं। फरवरी के आखिरी हफ्ते तक १२३०० महिलाओं की काउंसिंलग हुई। इसमें पति द्वारा पत्नी की बातें नहीं सुनने, छोटी-छोटी बात पर नाराजगी, फोन पर अधिक बातचीत, खाने में कमियां निकालने, कम रोमांटिक, गुस्सा करना, शराब पीना, घरेलू िंहसा की शिकायतों की काउंसिंलग हुई।