यौन कमजोरी की वजह बन सकती है साइक्ंिलग


लंदन। सप्ताह में तीन घंटे से ज्यादा साइकिल चलाने से यौन (मर्दाना) रूप से कमजोरी हो सकती है। उन्हें झुकी हुई अवस्था में साइकिल चलाना चाहिए न कि सीधे रह कर। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के महासचिव एचसीएफआई के अध्यक्ष डॉ के के अग्रवाल ने यह बात कही। उनका कहना है कि उम्र, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, मोटापा, धूम्रपान, नशे का सेवन तथा दिल का रोग भी यौन कमजोरी की वजह बन सकता है। मर्दाना कमजोरी उस परिाqस्थति को कहा जाता है, जब पुरुष का यौन अंग संबंध बनाने के लिए ऊर्जा नहीं जुटा पाता या बनाए नहीं रख पाता। हर पुरुष अपने जीवन में कभी न कभी इस तरह की समस्या से गुजरता है। `दिल के रोगों से मर्दाना कमजोरी का खतरा रहता है। मर्दाना कमजोरी दिल के रोगों का संकेत भी हो सकती है। मर्दाना कमजोरी से पीड़ित ऐसे पुरुष जिनमें पोqल्वक ट्रॉमा और दिल के रोगों के कोई लक्षण नहीं हैं, उन्हें यौन कमजोरी का इलाज करवाने से पहले दिल के रोगों की जांच करवा लेनी चाहिए, क्योंकि यौन संबंधों से दिल के रोगों का संबंध होता है।
एक अनुमान के मुताबिक, मर्दाना कमजोरी के २५ प्रतिशत मामले दवाओं के प्रतिवूâल प्रभाव की वजह से होते हैं। अवसाद, तनाव और इसके इलाज के लिए प्रयोग होने वाली दवाओं के असर से भी मर्दाना कमजोरी हो सकती है। स्ट्रोक, रीढ़ की हड्डी या पीठ की चोट, मल्टीपल स्क्लेरॉसिस और डिमेंशिया जैसे नाड़ीतंत्र के रोग भी मर्दाना कमजोरी का कारण बन सकते हैं। पोqल्वक ट्रॉमा, प्रोस्टेट सर्जरी या प्रियपिसम से भी यह हो सकती है। जननांगों पर लगातार दबाव या मर्दाना अंग की धमनियों में रक्त का बहाव उचित तरीके से न होने से अंग में असंवेदनशीलता या नपुंसकता हो सकती है। प्रमुख तौर साइकिल चलाने की वजह से होने वाली मर्दाना कमजोरी साइिंक्लग से जुड़े पेशेवर लोगों में पाई गई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, ५४० किलोमीटर की साइकिल दौड़ में भाग लेने वाले नॉर्वे के एक पुरुष में यह समस्या पाई गई। शौकिया साइकिल चलाने वाले लोग, जो सप्ताह में तीन घंटे से कम साइकिल चलाते हैं और झुकी हुई अवस्था में साइकिल चलाने वाले लोगों के यौन अंग की नसों और धमनियों पर अनावश्यक दबाव नहीं पड़ता और उन में साइिंक्लग की वजह से होने वाले यौन दुष्प्रभाव की संभावना कम होती है। बिल्कुल सीधे रह कर लगातार साइकिल चलाने से अंग में ऑक्सीजन का बहाव कम हो सकता है, जो १० मिनट तक कम रह सकता है।