यहाँ धूप से गल जाती है त्वचा


साओ पाउलो। ब्राजील के साओ पाउलो में एक गांव अरारस में निवासियों को धूप में निकलने पर त्वचा के गल जाने का खतरा पैदा हो जाता है। यह गांव त्वचा की एक बहुत ही अजीबो-गरीब और दुर्लभ बीमारी से पीडित है। इसे एक्सोडेरमा पिगमेंटोसम यानी एक्सपी कहते है। इस बीमारी में धूप के कारण ाqस्कन गल जाती है। वैसे तो यह बीमारी लाखों लोगो में से किसी एक को होती है पर इस गांव में ३ फीसदी आबादी इस बीमारी से पीडित है। ाqस्कन की इस बीमारी से पीडित लोगों के लिए धूप में निकलना सजा की तरह है।
धूप में निकलने से सूरज की किरणें झुलसा देती हैं। एक्सपी बीमारी बहुत ज्यादा संवेदनशील होने पर ाqस्कन वैंâसर का रूप ले लेती है और त्वचा को धूप से पहुंचने वाले नुकसान को सही करना नामुमकिन हो जाता है। धूप के चलते ाqस्कन लाल और रूखी पड़ जाती है और चेहरा भद्दा दिखने लगता है। कुछ लोगों के पास तो धूप में काम करने के सिवा और कोई चारा भी नहीं है।
दरअसल, अरारस में ज्यादातर खेती से जुड़े समुदाय रह रहे हैं। ऐसे में वो धूप में काम करने से बच नहीं सकते। इसका नतीजा ये हो रहा है कि ाqस्कन की इस भयानक बीमारी के चलते लोगों की िंजदगी मुाqश्कल होती जा रही है। इस गांव में ८०० लोगों में से २० लोग इस बीमारी के शिकार हैं। मतलब ये हुआ कि हर चालीस लोगों में एक आदमी इस बीमारी से पीडित है, जबकि अमेरिका में १० लाख लोगों में कोई एक शख्स ही इस बीमारी का शिकार है। इसके पीछे सबसे बड़ी वजह यहां अनुवांशिकता बताई जा रही है।