पढ़ाई तीसरी कक्षा तक और बना डाला `हेलीकाप्टर’


दिसपुर । कुछ कर दिखाने की चाह अगर दिल में हो तो कोई भी इन्सान हर मुश्किल पार करके अपने सपने को पूरा कर सकता है ऐसा ही कुछ कर दिखाया है असम के धेमाजी जिले में रहने वाले एक शख्स ने। अपने सपने को पूरा करने के लिए सागर ने ऐसा कुछ कर दिखाया है जिसकी कल्पना किसी आम इंसान के लिए न के बराबर है। प्राप्त जानकारी के अनुसार धेमाजी जिले के धीमोह गांव के रहने वाले सागर प्रसाद शर्मा ने एक हेलीकाप्टर का निर्माण किया है और वो भी सिर्पâ स्थानीय तकनीक की मदद से। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि सागर सिर्पâ तीसरी कक्षा तक पढ़ा है, और उसे इस काम को पूरा करने में ३ साल का समय लगा। उनका कहना है कि उनकी पत्नी जॉनी मयंक और दोस्त तूपान गिमेरे ने इस काम में उनकी बहुत मदद की। उन्होंने यह भी कहा कि अगर उनके दोस्त तूपान गिमेरे उन्हें र्आिथक रूप से मदद नहीं करते, तो उसका सपना सच ही नहीं हो सकता था। पिछले तीन साल से एक बंद कमरे में वह अपने इस मिशन को पूरा करते रहे। वेल्डिंग का काम करने वाले सागर ने अपने विमान के ९० प्रतिशत पूरा होने के बाद ही इस बारे में लोगों को बताया। सागर के अनुसार अब तक १० लाख रुपए वे इस काम मेें खर्च कर चुके हैं।