पृथ्वी के सबसे निकट होगा शनिवार को गुरु ग्रह


वडोदरा। आसमान में सालों बाद एक अद्भुत नजारा देखने को मिलेगा। शनिवार को गुरु ग्रह पृथ्वी के सबसे नजदीक आएगा, जो बहुत ओजस्वी होगा। यहां ाqस्थत गुरुदेव वेधशाला के खगोलशास्त्री दिव्यदर्शन डी. पुरोहित ने बताया कि गुरु ग्रह शनिवार सुबह ६.१८ बजे सूर्य के एकदम सामने होगा, जिसके चलते शुक्रवार रात्रि में वह सबसे बड़ा और सबसे तेजस्वी होगा। गुरु ग्रह के इस स्वरूप को देखने के लिए हमें इसके बाद अगले १३ माह तक इंतजार करना होगा। शनिवार रात पृथ्वी के एक ओर गुरु तो ठीक दूसरी ओर सूर्य होगा जिससे इस ाqस्थति का निर्माण होगा
पुरोहित के मुताबिक सूर्यास्त के साथ गुरु ग्रह पूर्व दिशा में दिखाई देगा जो अगली सुबह तक तेजस्वी रहेगा। इस ाqस्थति का सबसे बेहतरीन नजारा सुबह छह बजे देखने को मिलेगा। पुरोहित ने कहा, इस ाqस्थति के दौरान गुरु ग्रह आसमान के सबसे तेजस्वी तारे व्याध से भी तीन गुना तेजस्वी होगा। इससे तेजस्वी केवल शुक्र ग्रह और चन्द्रमा ही होंगे। चन्द्र की पूर्ण चांदनी में भी शुक्रवार रात गुरु ग्रह तेजस्वी दिखेगा। अगले एक माह तक उसे हर रात देखा जा सकेगा। पुरोहित ने बताया कि गुरु १० घंटे में एक पूरा चक्कर घूम लेता है, यानी अगर आप शुक्रवार रात्रि जागकर देखेंगे तो, गुरु का पूरा दिन और रात देख सवेंâगे। साथ ही गुरु के तीव्र चक्रण के कारण गुरु पूर्ण रूप गोलाकार नहीं दिखाई देगा, उसका भी नजारा लिया जा सकता है।
रेशु जैन/ईएमएस/१२,०५