पांच अरब वर्ष बाद नहीं रहेगा सूर्य


मुंबई । एक भौतिक विज्ञानी के अनुसार भविष्य में ब्रह्मांड के विस्तार और इसके घटकों के तेजी से विघटन के कारण सूर्य और ब्रह्मांड के कई तारों का आqस्तस्व समाप्त हो जाएगा। हालांकि सूर्य के मामले में ऐसा होने में पांच अरब वर्ष से ज्यादा समय लगेगा। एक खबर के अनुसार ऑाqस्ट्रया में रह रहे इस विज्ञानी ने २०११ में एड़ा रीज और साउल पर्लमटर के साथ ब्रह्मांड में हो रहे विस्तार का पता लगाया था, जिसके लिए उन्हें नोबेल पुरस्कार दिया गया था। ब्रह्मांड के विस्तार पर अपनी शोध रिपोर्ट पेश करने से पहले उन्होंने अपने शोध में कहा कि वर्तमान समय में वैज्ञानिकों के लिए सबसे बड़ी चुनौती ‘अंधकार की उर्जा’ का पता लगाना है, जिससे ब्रह्मांड का लगभग ७० प्रतिशत भाग र्नििमत है।