तन्हाई मिटाएँगी रोबो डॉल्स


लंदन। हो सकता है कि यह सब किसी पुरानी साइंस फिक्शन फिल्म की कहानी लगे लेकिन यह सच भी है कि २०१६ का सबसे बड़ा ट्रेंड सेक्स रोबोट्स होंगी। इन मशीनों के मशहूर होने के पीछे एक कारण यह भी है कि यह ना सिर्पâ यौन संबंध बनाने के काम आती हैं बाqल्क इंसानों के साथ प्यार भी करती हैं। सेक्स और रिलेशनशीप की मनोवैज्ञानिक डॉ. हेलन के अनुसार दुनिया में इस तरह के प्रोडक्ट तेजी से पंसद किए जा रहे हैं। वहीं संडरलैंड विश्वविद्यालय के डॉ. ड्रिस्कोल के अनुसार सेक्स इंडस्ट्री आने वाले सालों में रोबाटिक, इंटरोqक्टव और मोशन सेंसर पर ज्यादा से ज्यादा वेंâद्रीत होगी। जहां तकनीक के विकास के साथ वर्चुअल रिअलिटी और बेहतर हुई है जो इंसानी पार्टनर के साथ यौन संबंधों का बेहतर अनुभव दे सकती है वहीं कुछ लोग इसकी मदद एक ऐसी चीज से यौन संबंध बनाने में कर सकते हैं जो पूरी तरह से इंसान नहीं है। हो सकता है इंसान अपने वर्चुअल रिअलिटी पार्टनर्स के साथ प्यार भी करने लगे। यह कोई नई भविष्यवाणी नहीं है लेकिन तकनीक ने उम्मीद से अधिक तेजी से विकास किया है।
२००७ में र्आिटफिशल इंटेलिजेंस रिसर्चर डेविड लेवी ने कहा था कि भविष्य में इंसान रोबोट्स से शादी कर सकता है। लेवी ने कहा था कि हो सकता है कि शुरुआत में यह इतना प्रभावी ना हो लेकिन जब किसी पत्रिका में इस तरह की बात छपेगी की मैंने रोबोट से यौन संबंध बनाए और वो मजेदार थे तो कई लोग इस तरफ आर्किषत होंगे। एक अन्य एक्सपर्ट डॉ. ईयान पीअर्सन ने एक ऑनलाइन शॉप के लिए लिखी रिपोर्ट में कहा है कि देह व्यापार और ाqस्ट्रप क्लब चलाने वाले भी जल्द रोबोट्स की वैâटेगरी बनाएंगे जहां कुछ लोगों के लिए इन्हें रखा जाएगा। उनकी रिपोर्ट में दावा किया गया है कि २०५० तक यौन संबंधों के मामले में इंसान रोबोट के साथ हो जाएगा और इंसानों के बीच संबंध नहीं रहेंगे।