जल्द हवाई सफर में कर सकेंगे मोबाइल का इस्तेमाल


ट्राई कर रहा तैयारी

नई दिल्ली (ईएमएस)। हमेशा मोबाइल से कनेक्ट रहने वाले हम लोग हवाई सफर करने के दौरान जब विमान में बैठते हैं,तो आपको मोबाइल फोन को फ्लाइट मोड में डालने के लिए कहा जाता है। लेक‍िन जल्द ही आप फ्लाइट में से न सिर्फ कॉल कर पाएंगे,बल्क‍ि बिना किसी दिक्कत के इंटरनेट भी इस्तेमाल कर सकेंगे। सूत्रों के मुताबिक फ्लाइट से सफर करने के दौरान वॉयस कॉल करने और मोबाइल डाटा का इस्तेमाल करने को लेकर ट्राई ने कुछ सुझाव तैयार किए हैं। इन सुझावों का टेलीकॉम अथॉरिटी जल्द ही डीजीसीए को भेजेगी। अगर डीजीसीए ट्राई के सुझावों को मान लेता है,तो वो दिन दूर नहीं,जब आप फ्लाइट में आसानी से वॉयस कॉल करने का आंनद उठा पाएगें। इसके साथ ही अपने मोबाइल पर इंटरनेट डाटा भी चला सकेंगे। फ्लाइट में सुरक्षा कारणों की वजह से मोबाइल फोन को फ्लाइट मोड में रखने के लिए कहा जाता है। मोबाइल के फ्लाइट मोड में जाने के बाद इससे वॉयस कॉल करना और इंटरनेट का इस्तेमाल करन संभव नहीं हो पाता है।
टेलीकॉम अथॉरिटी इसी का समाधान निकाल रही है और डीजीसीए की अनुमति मिलने के बाद आप आसानी से वॉयस कॉल अपने मोबाइल से कर सकेंगे। इसके साथ ही इंटरनेट का भी बेहिचक इस्तेमाल कर पाएंगे। ट्राई लगातार लोगों के लिए मोबाइल के इस्तेमाल को आसान बनाने में जुटी हुई है। हाल ही में अंतरराष्ट्रीय इनकमिंग कॉल के टर्मिनेशन शुल्क की दरों को घटाया है। ट्राई ने इसमें 53 पैसे प्रति मिनट से घटाकर 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया। नई दरें एक फरवरी से प्रभावी होंगी। दूरसंचार नियामक के एक बयान में यह जानकारी दी गयी कि प्राधिकरण ने किसी अंतरराष्ट्रीय सेवा प्रदाता द्वारा कॉल स्वीकार करने वाले नेटवर्क को किये जाने वाले भुगतान की दर 53 पैसे प्रति मिनट से कम कर 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया है।