चूहों का होगा सफाया


वेिंलगटन। छोटे-छोटे से दिखने वाले चूहे बड़ी घातक बीमारी से आपका वास्ता करवा सकते हैं। चूहों से संक्रमण और बीमारियां तेजी से पैâलती हैं। इसलिए अब न्यूजीलैंड का कहना है कि अब समय आ गया है कि उनका सफाया कर दिया जाए। उनमें से हर एक का सफाया किया जाए। प्रधानमंत्री जॉन की ने २०५० तक चूहों और अन्य उपद्रवी जानवरों से छुटकारा पाने की महत्वकांक्षी योजना की घोषणा की जिसमें पोसम और स्टोट्स भी शामिल हैं। सरकारी चूहा मुक्त देश की उम्मीद करती है जो कि देसी पक्षी कीवी को बढ़ावा देगा। कई प्रजातियों के पक्षी के विलुप्त होने की संभावना है क्योंकि चूहों और अन्य कीट उनके अंडों को खा लेते हैं। न्यूजीलैंड अपने कई छोटे द्वीपों में से चूहों को खत्म करने में सफलता पाने की पूरी उम्मीद करते हैं। हालांकि कुछ वैज्ञानिकों के मुताबिक यह लक्ष्य प्रशंसनीय है लेकिन यह बहुत कठिन है क्योंकि इस देश का आकार यूके के बराबर है।जॉन की के मुताबिक ‘ यह महत्वकांक्षी वंâजर्वेशन प्रोजेक्ट है लेकिन हमें यकीन है कि इसे हासिल करने के लिए एक देश के रूप में सभी को साथ काम करना होगा। ‘उनका कहना है कि सराकर शुरूआत में चार साल में २० मिलियन डॉलर का योगदान करेंगी।