गुरू ने बदली अपनी चाल


– ३ माह भावावेश में नहीं करें निर्णय
नई दिल्ली। देवताओं के गुरु बृहस्पति ने सोमवार से अपनी चार महीने से चल रही उल्टी चाल को खत्म कर फिर से सीधी चाल में चलने लगे हैं। अबबृहस्पति सूर्य की राशि िंसह में और शुक्र के नक्षत्र पूर्वाफाल्गुनी के दूसरे चरण में अपनी सीधी चाल चल रहे हैं। गुरुवार को रात २२:२४ पर अपनी सीधी चाल से बुध की राशि कन्या में प्रवेश करेंगे। अगले तीन महीने तक जिस जातक की वुंâडली में गुरु दोष की अशुभ ाqस्थति है उसे इन तीन महीने की अवधि में अत्यधिक परेशान होना पड़ेगा। कई कठिनाइयों और चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। अशुभ गुरु के समय व्यक्ति भावावेश में कई ऐसे निर्णय ले लेता है जो स्वयं उसी के लिए आत्मघाती सिद्ध होते हैं। आने वाले तीन माह में सभी राशि के लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए।