कम्प्यूटर से तेज होती है बुजुर्गो की याददाश्त


न्यूयार्वâ । वंâप्यूटर भी बुजुर्गो की याददाश्त तेज करने में अहम स्थान रखता है। एक नए शोध के अनुसार सप्ताह में एक या उससे अधिक बार वंâप्यूटर, किताबों और विभिन्न मानसिक गतिविधियों में शामिल होने वाले बुजुर्गो में अन्य बुजुर्गो की तुलना में स्मृति क्षय का खतरा ४२ फीसदी कम होता है। वंâप्यूटर, किताबें, वीडियो गेम्स, बागवानी और शिल्पकारी जैसे कार्य मानसिक रूप से सक्रिय रहने के लिए बहुत लाभकारी होते हैं। अमेरिका की अमेरिकन एकेडमी ऑफ न्यूरोलॉजी से इस अध्ययन की लेखक जैनिना व्रेâल-रोश ने बताया, ’’यह निष्कर्ष बताते हैं कि उम्र के अनुसार माqस्तष्क को सक्रिय रखना बेहद जरूरी है।’’ इस शोध में ७० और उससे अधिक आयु के एक हजार ९२९ लोगों पर हुए अध्ययन का आंकलन किया गया था। यह लोग ’’मायो क्लीनिक स्टडी ऑफ एिंजग’’ नामक अध्ययन के प्रतिभागी रहे थे। शोर्धािथयों ने बताया, जो लोग मानसिक गतिविधियों में शामिल नहीं रहते थे, उनकी तुलना में सप्ताह में एक बार मानसिक गतिविधियों में शामिल रहने वाले व्यक्तियों में मानसिक विकारों के विकसित होने का बहुत कम खतरा पाया गया।