एचआईवी से ग्रसित होना है फैशन


र्बािसलोना। आजकल किशारों में एक नया ट्रेंड देखने को मिल रहा है जिसे ‘सेक्स रूले’ के नाम से जाना जाता है. इस ट्रेंड के चलते किशोर खुद को जोखिम में डाल रहे हैं. स्पेन के र्बािसलोना एक ऐसी दुनिया है जहां किशोर जोखिम से भरी र्पािटयां करते हैं इन पार्टीज को ‘सेक्स रूले’ के नाम से जाना जाता है.इन पार्टीज में किशोरों को असुरक्षित सेक्स संबंध बनाने के लिए आमंत्रित किया जाता है. इन असुरक्षित संबंधों के दौरान एक साथी एचआईवी से ग्रसित होता है. यानी सेक्स करने वालों में एक पार्टनर एचआईवी का शिकार होगा.
किशोरों में ये ट्रेंड काफी पॉपुलर हो रहा है जिसकी वजह से स्पेन र्बािसलोना में एचआईवी के मामलों में काफी वृद्धि हो गई है. ऐसे असुरक्षित यौन संबंधों के कारण एचआई के अलावा किशोरों में हेपेटाइटिस सी, क्लैमाइडिया और गानरीअ जैसे यौन संक्रमण भी हो रहे हैं. लेकिन सोचने वाली बात है कि आखिर इतनी विचित्र प्रकृति की तरफ किशोर आर्किषत हो क्यों रहे हैं? इस मामले में एक सर्वे किया गया जिसमें हैरान करने वाले तथ्य सामने आए. सर्वे के मुताबिक, २४ फीसदी किशोरों को इस बात से कोई फर्वâ नहीं पड़ा कि उनको एचआई वी है.युवा इस बात से निाqश्चत हैं कि उन्हें एचआईवी है क्योंकि वहां एचआईवी का इलाज सुलभ और प्रभावशाली इलाज मौजूद है. जी हां, ये हैरान करने वाली बात है कि युवा सोचते हैं एचआईवी होना बड़ी बात नहीं है.
बेशक, अग्रिम चिकित्सा के कारण संक्रमित युवाओं को जीवन जीने का नया सकारात्मतक दृाqष्टकोण मिला और वे आरामदायक जीवन जी रहे हैं. लेकिन फिर भी ये जीवनभर चलने वाली बीमारी है.विशेषज्ञ इस बात को लेकर काफी िंचतित हैं कि युवा एचआईवी की पूरी असलियत जाने बिना इसके साथ जुआ खेल रहे हैं.
आपको बता दें ‘सेक्स रूले’ पार्टी में जाने का मतलब ही है लाइफ के साथ जोखिम. इस पार्टी में जाने वाले युवाओं की मानसिकता है कि वे लाइफ के साथ जितना बड़ा खतरा मोल लेंगे उतना ही मजा आएगा. केट मॉर्ले, साइकोसेक्सुअल थरेपिस्ट के मुताबिक, ठसेक्स र्पािटयों में हाई इंटेंसिटी का मतलब है की आप जितने उच्च एड्रेनालाईन के साथ संभोग करेंगे उतनी अधिक उत्तेजना और मजा मिलेगा. उत्तेजना और रोमांच कहने में हाई है पर उसके लम्बे और दीर्घकालिक परिणाम बहुत ही खतरनाक है इतने की जितना आप सोच भी नहीं सकते. एचआईवी से ग्रस्त होने का खतरा है एक तरफ , लेकिन अन्य हानिकारक यौन संचारित संक्रमण भी होने का खतरा होता है.ये प्रवृति भले ही कितना ही परेशान करने वाली हो लेकिन नौजवानों में ये नासमझी यौन संबंधी प्रवृति बढ़ती ही जा रही है