आवाजों को सुनने के लिए सिर का इस्तेमाल करते हैं पक्षी


मुंबई। स्तनधारियों की तरह पक्षियों के बाहरी कान नहीं होते इसलिए विभिन्न कोणों से आ रही आवाजों को सुनने के लिए पक्षी अपने सिर का इस्तेमाल करते हैं, क्योंकि एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। अध्ययन के मुताबिक पक्षियों को बाहरी कान नहीं होते, लेकिन इसका काम वह अपने सिर से लेते हैं। इस माध्यम से ही वह पता लगा लेते हैं कि आवाज उनके ऊपर से आ रही है या नीचे से या कहीं और से। अध्ययनकर्ता कहते हैं कि पहले माना जाता था कि चूंकि पक्षियों के बाहरी कान नहीं होते, इसलिए वे विभिन्न ऊंचाइयों से आ रही आवाजों में फर्वâ नहीं कर पाते। उन्होंने कहा लेकिन एक मादा श्यामापक्षी यह पता लगाने में सक्षम पाई गई कि उसका साथी नर पक्षी उससे थोड़ी ऊंचाई पर ऊपर ाqस्थत है। उन्होंने कहा कि दरअसल उनका अंडाकार सिर ध्वनि ऊर्जा को ठीक उसी तरह रूपांतरित करता है, जिस तरह बाहरी कान करता है।