आधार न होने पर इस्तेमाल कर सकते हैं वोटर कार्ड समेत अन्य आईडी प्रूफ


-केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया

नई दिल्ली (ईएमएस)। आधार कार्ड को मोबाइल नंबर, बैंक खाते समेत अन्य कई सरकारी योजनाओं के लिए अनिवार्य कर दिया गया है। मगर आप अगर सरकारी योजनाओं का फायदा उठाना चाहते हैं तो आधार की गैर-मौजूदगी से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। ऐसी स्थ‍िति में आप वोटर आईडी कार्ड समेत अन्य दस्तावेज भी दिखा सकते हैं। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि आधार न होने की वजह से किसी को भी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से वंचित नहीं किया जा रहा है। एड‍िशनल सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट में बताया कि इस संबंध में कैबिनेट सचिव अध‍िसूचना जारी कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि प‍िछले साल 19 दिसंबर को इस संबंध में अध‍िसूचना जारी की गई थी। इसमें साफ किया गया है कि किसी भी नागरिक को आधार न होने की सूरत में सामाजिक सुरक्षा योजना के लाभ से वंच‍ित नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आधार की जगह वोटर आईडी व राशन कार्ड समेत अन्य दस्तावेज भी दिए जा सकते हैं। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में आधार की अनिवार्यता को लेकर हो रही सुनवाई के दौरान यह बातें रखीं। इस दौरान उन्होंने साफ किया कि आधार एक्ट में कई प्रावधान किए गए हैं। एक्ट में यह भी प्रावधान है कि देश के नागरिक को सबसे पहले आधार दिखाना होगा या फिर अपनी आधार डिटेल को ऑथेंटिकेट करना होगा। अगर ये दोनों काम नहीं हो पाते हैं, तो वह कोई दूसरा आईडी कार्ड मुहैया करा सकता है। ऐसी स्थ‍िति में उसे सुविधा दिए जाने से इंकार नहीं किया जा सकता।