असुरक्षित हैं बुजुर्ग


नईदिल्ली । देश के बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में सीनियर सिटीजंस के खिलाफ होने वाले क्राइम की संख्या साल-दर-साल बढ़ रही है। यही वजह है कि कई बड़े शहरों में रहने वाले बुजुर्ग छोटे शहरों में रहना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। देश के १२ बड़े शहरों में रहने वाले १९०० सीनियर सिटीजंस पर हुए एक सर्वे ने उनके अंदर के डर को सामने लाकर रख दिया है। मार्वेâट रिसर्च करने वाली देश की एक अहम फर्म ने इस सर्वे को वंâडक्ट किया है। चार हिस्सों में बंटे इस सर्वे में लोगों से सोशियो-इकोनॉमिक इश्यूज, सिक्योरिटी, हेल्थकेयर और लाइफस्टाइल नीड्स पर बात की गई। इन सवालों के जवाब से सामने आया कि हर तीन में से दो सीनियर सिटीजन अकेलेपन से परेशान हैं। इनका मानना है कि ये शहरों में एक ऐसे वातावरण में रहने को मजबूर हैं, जहां पर न तो उचित सुरक्षा है और न ही जिम्मेदार पुलिस। इतना ही नहीं, शहरों में बढ़ते अपराध की वजह से ये अपने घरों में किसी भी तरह की डोमोqस्टक हेल्प को हायर करने से डरते हैं। गौरतलब है कि इस साल देश में सीनियर सिटीजंस की आबादी बढ़कर ११८ मिलियन पहुंच जाएगी।