अक्षय तृतीया पर नहीं होंगी शादियां


नई दिल्ली। इस अक्षय तृतीया पर शादियां नहीं हो सकेगी। दरअसल अगले महीने शुक्र अस्त होने तथा वैसाख माह में िंसहस्थ योग बनने के कारण अगले दो माह मई तथा जून में शादी के लिए कोई मुहूर्त नहीं है। हालांकि इस दौरान ९ मई को अक्षय तृतीया (आखा तीज) भी आएगी जिसे विवाह के लिए सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त माना जाता है परन्तु शुक्र अस्त तथा िंसहस्थ के चलते इस दिन भी विवाह टाले जा रहे हैं।
जानकारी के अनुसार विवाह के लिए गुरु बल तथा शुक्र बल दोनों की आवश्यकता होती है। दोनों में से एक के भी अस्त होने पर शुभ कार्य यथासंभव टाले जाते हैं। जुलाई में शुक्र उदय होने पर विवाह होंगे परन्तु ये केवल ७ से १४ जुलाई तक (लगातार आठों दिन) मुहुर्त रहेंगे। इसके बाद १५ जुलाई को देवशयनी एकादशी के बाद चार्तुमास होने के कारण विवाह पर फिर चार महीनों के लिए ब्रेक लग जाएगा। इस बार १२ वर्ष पश्चात ९ मई को अक्षय तृतीय पर अमृत वुंâभ योग बन रहा है। इस दिन सूर्य मेष राशि में, गुरु िंसह राशि में, सोमवार का दिन, आनंद योग, अवंतिका नगरी का तट, शुक्ल पक्ष, बैशाख महीना रहेगा जिसके चलते १० शुभ योगों में से ६ का संयोग बन रहा है। मान्यता है कि इस दिन किए गए शुभ कार्यों का पुण्य कभी समाप्त नहीं होता। इस दिन स्वयंसिद्ध मुहूर्त होने के कारण लोग विवाह भी करते हैं हालांकि इस बार शुक्र अस्त होने तथा िंसहस्थ होने के कारण विवाह टाले जाएंगे परन्तु अन्य शुभ कार्यों पर कोई बाधा नहीं है।