सिर्फ पेट्रोल इंजन में ही आ सकती है नई टोयोटा कोरोला


दिल्ली और केरल में 2000 सीसी से ज्यादा इंजन क्षमता वाली डीज़ल कारों पर बैन लगने से लगभग सभी कंपनियों को नुकसान पहुंचा है। लिहाजा अब वाहन निर्माता कंपनियां रणनीति बदलकर कारों के पेट्रोल वर्जन पर ज्यादा ध्यान दे रही हैं। बैन से प्रभावित कंपनियों में टोयोटा भी शामिल है। हाल ही में कंपनी ने बैन पर तीखी प्रतिक्रिया भी दी थी।  ऑटोकार इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी नेक्स्ट जनरेशन कोरोला (भारत में कोरोला एल्टिस) को केवल पेट्रोल इंजन में ही उतारेगी। इसे डीज़ल इंजन में नहीं उतारा जाएगा।

पावर स्पेसिफिकेशन की बात करें तो मौजूदा कोराला एल्टिस में 1.4 लीटर का 4-सिलेन्डर डीज़ल इंजन दिया गया है। जो 88 पीएस की पावर 3800 आरपीएम पर और 205 एनएम का टॉर्क 1800-2800 आरपीएम पर जनरेट करता है। इसमें 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स दिया गया है। बिक्री के मामले में इसे भारत में अच्छा रेस्पोंस मिला है।

ऐसे में माना जा रहा है कि नई कोरोला को पेट्रोल-हाईब्रिड वर्जन में उतारा जा सकता है। ऐसी कारों की मांग लगभग हर बाज़ार में बढ़ रही है। अपने ही देश की बात करें तो यहां  हाईब्रिड कारों पर एक्साइज़ ड्यूटी घट गई है और दिल्ली में तो इन पर लगने वाले वैट को भी घटा दिया गया है।

अगर टोयोटा ऐसा कदम उठाती है तो हाईब्रिड वर्जन होने के कारण इसे भी कैमरी हाईब्रिड की तरह भारी छूट मिलेगी और इसकी कीमत भी थोड़ी कम रहेगी। हाल ही में टैक्स और ड्यूटी में कमी के चलते टोयोटा कैमरी हाईब्रिड के दामों में दो लाख रूपए से ज्यादा की कटौती की गई है।

सिर्फ पेट्रोल वर्जन में आने वाली नई कोरोला कितनी सफल रहेगी यह तो इसकी लॉन्चिंग और उस वक्त बाजार के ट्रेंड और वाहनों से जुड़े नियमों पर तय करेगा।

स्रोत : कार देखो.कोम