विटारा ब्रेज़ा, ईकोस्पोर्ट और टीयूवी-300 में कौन, किस मामले में है बेहतर, जानिये यहां


छोटी एसयूवी के मामले में मारूति विटारा ब्रेज़ा को इस साल का सबसे बहुप्रतिक्षित लॉन्च कहा जा सकता है। इस सेगमेंट में ब्रेज़ा के अलावा फोर्ड की ईकोस्पोर्ट और महिन्द्रा की टीयूवी-300 भी मौजूद है। 6.99 लाख रूपए में लॉन्च हुई ब्रेज़ा इस सेगमेंट की सबसे सस्ती कार थी हालांकि बाद में फोर्ड ने भी ईकोस्पोर्ट की कीमतें वेरिएंट के मुताबिक 1.12 लाख रूपए तक घटा दीं। विटारा ब्रेज़ा और टीयूवी-300 केवल डीज़ल इंजन में उपलब्ध है। वहीं ईकोस्पोर्ट में दो पेट्रोल इंजन के विकल्प भी मिलते हैं। यही एक बड़ा कारण है कि विटारा ब्रेज़ा और टीयूवी 300 के बेस वेरिएंट की कीमत ईकोस्पोर्ट की तुलना में थोड़ी ज्यादा है।

तो बढ़ते हैं आगे और जानते हैं कि किस मामले विटारा ब्रेज़ा, फोर्ड ईकोस्पोर्ट और टीयूवी-300 एक दूसरे से बेहतर हैं…

फर्स्ट लुक

 

कॉम्पैक्ट एसयूवी (सब 4-मीटर सेगमेंट) खरीदने वाले ग्राहकों की चाहत दमदार दिखने वाली गाड़ी होती है। यह तीनों छोटी एसयूवी इस मामले में निराश नहीं करतीं।
इस सेगमेंट की सबसे नई कार विटारा ब्रेज़ा से शुरू करें तो इसमें दी फ्लोटिंग रूफ और प्रोजेक्टर हैडलैंप्स इस सेगमेंट में पहली बार देखने को मिले हैं। इसकी रूफ में कंट्रास्ट कलर के अलावा 16 इंच के अलॉय व्हील्स का भी ऑप्शन मौजूद है। यह टायर्स इस सेगमेंट में सबसे चौड़े टायर होने का दावा करते हैं। इसके साथ ही यहां एलईडी गाइड लाइट्स और एलईडी टेललैंप्स भी देखने को मिलेंगे, जबकि दूसरी कारों में केवल हैलोजन लैंप्स ही मौजूद हैं।

प्रतियोगियों की बात करें तो दिखने के मामले में ईकोस्पोर्ट, विटारा ब्रेज़ा से कमतर नहीं है। हालांकि इसमें प्रोजेक्टर हैडलैंप्स और कलर कॉम्बिनेशन के ज्यादा विकल्प नहीं मिलेंगे। इस मामले में विटारा ब्रेज़ा आगे है। वहीं टीयूवी-300 बॉक्सी डिजायन की वजह से ज्यादा एसयूवी वाला लुक देती है। स्क्वायर थीम (चौकोर आकार) वाली इस कार में स्क्वायर शेप के फॉग लैंप्स और विंडो लाइन दिखने को मिलेंगी। डिजायन के मामले में दोनों कारों के मुकाबले ईकोस्पोर्ट ज्यादा बोल्ड नहीं है।

इंटीरियर

विटारा ब्रेज़ा का केबिन देखेंगे तो आपको अहसास होगा कि यह काफी लुभावना है लेकिन ईकोस्पोर्ट के मुकाबले इसकी क्वालिटी थोड़ा निराश करती है। ईकोस्पोर्ट का केबिन ज्यादा अपमार्केट लगता है। हालांकि विटारा ब्रेज़ा का केबिन फिटिंग और फिनिशिंग के मामले में टीयूवी-300 पर जरूर भारी पड़ता है। इसके अलावा ब्रेज़ा का इंफोटेंमेंट सिस्टम एपल कार-प्ले को सपोर्ट करता है। यह सुविधा बाकी दोनों में उपलब्ध नहीं है। इंफोटेंमेंट सिस्टम की लाइट को अपने मूड के हिसाब से बदलने की सुविधा और क्रूज़ कंट्रोल भी विटारा ब्रेज़ा की फीचर्स लिस्ट में शामिल है, जो अन्य दोनों में उपलब्ध नहीं है।
इंजन स्पेसिफिकेशन

इस मामले में ईकोस्पोर्ट का डीज़ल इंजन विटारा ब्रेज़ा पर भारी पड़ता है क्योंकि यह 100 पीएस और 90पीएस सहित दो पावर ऑप्शन में आती है। हालांकि विटारा ब्रेज़ा कम वजनी होने के कारण ईकोस्पोर्ट की तुलना में थोड़ी फुर्तीली है। राइड क्वालिटी और फन-टू-ड्राइव की बात करें तो ईकोस्पोर्ट का कोई मुकाबला नहीं है। टीयूवी-300 की बात करें तो उक्त तीनों में इसका टॉर्क सबसे ज्यादा है, इसे हैवी ट्रैफिक में चलाना आसान है। यह एक रियर व्हील ड्राइव कार है जो सॉफ्ट ऑफ रोडिंग के मामले में अपने दोनों प्रतियोगियों पर बढ़त पाने में सफल होती है।

निष्कर्ष

हमारी राय में अगर आप ऐसी कॉम्पैक्ट एसयूवी चाहते हैं जो बेहतर माइलेज के साथ फीचर्स से भी लैस हो तो विटारा ब्रेज़ा आपको निराश नहीं करेगी। लेटेस्ट फीचर्स के रूप में यहां प्रोजेक्टर हैडलैंप्स, एलईडी गाइड लैंप्स और इंफोटेंमेंट सिस्टम के साथ मूड लाइटिंग जैसे फंक्शन मिलेंगे। वहीं माइलेज के मामले में यह सेगमेंट में सबसे बेहतर है। अगर आप कुछ एडवेंचर के साथ अच्छी राइड क्वालिटी वाली कॉम्पैक्ट एसयूवी की चाहत रखते हैं तो ईकोस्पोर्ट बेहतर रहेगी। लेकिन अगर आपको थोड़ा ऑफ रोडिंग का शौक है तो फिर टीयूवी-300 लेना ही सही रहेगा। इसका रियर व्हील ड्राइव सिस्टम मुश्किल रास्तों में ड्राइविंग को थोड़ा आसान बना देता है।

स्रोत : कार देखो.कोम