मुकाबला: होंडा सीआर-वी और हुंडई ट्यूसॉन का


हुंडई ने ऑटो एक्सपो-2016 में एसयूवी ट्यूसॉन को उतारा। इसे हुंडई क्रेटा और सेंटा-फे के बीच रखा जाएगा। संभावना है कि इस साल के मध्य तक यह बाजार में होगी। ट्यूसॉन की संभावित कीमत 17 से 22 लाख रूपए रहने की उम्मीद है। ट्यूसॉन को पेट्रोल और डीज़ल दोनों इंजन ऑप्शन में उतारे जाने की उम्मीद है। ऑटो मार्केट में इसका मुकाबला होंडा सीआर-वी से होगा। हालांकि सीआर-वी में डीज़ल इंजन का विकल्प नहीं है। नई ट्यूसॉन के डीज़ल इंजन में दो पावर ऑप्शन होंगे। पहला 134 बीएचपी का और दूसरा 182बीएचपी का। अगर आप भी इस सेगमेंट की एसयूवी खरीदना चाहते हैं तो यहां हमने कंपेयर किया है 2.0लीटर पेट्रोल इंजन वाली होंडा सीआर-वी को 2.0लीटर डीज़ल इंजन वाली हुंडई ट्यूसॉन से। इन दोनों की कीमत लगभग बराबर है। तो देर किस बात की। आइये जानते हैं पावर और परफॉर्मेंस के मामले में कौन सी एसयूवी रहेगी बेहतर..

लंबे वक्त से बाजार में मौजूद सीआर-वी एक भरोसेमंद और अच्छा विकल्प है। लेकिन पावर के मामले में यह ट्यूसॉन से पिछड़ी हुई है। इसके अलावा इसकी कीमत भी थोड़ी ज्यादा है। वहीं दूसरी ओर ट्यूसॉन भी भारतीय बाजार के लिए नई कार नहीं है। इसे साल 2005 में लॉन्च किया गया था। साल 2010 तक इसकी बिक्री हुई। मांग में कमी के कारण बाद में इसे बंद कर दिया गया। लंबे समय बाद ट्यूसॉन भारत में री-एंट्री कर रही है। तब से लेकर अब तक भारतीय कार बाजार काफी बदल चुका है। लोगों ने हुंडई क्रेटा और फोर्ड ईकोस्पोर्ट जैसी कारों को हाथों हाथ लिया है। नई ट्यूसॉन में 8-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम, पैनारोमिक सनरूफ और एडवांस एसी सहित कई अपडेटेड फीचर देखने को मिलेंगे। ये सभी बदलाव हुंडई को कार बाजार में आगे रखने में मददगार साबित होंगे।

स्रोत : कार देखो.कोम