भारत आ सकती है चीनी कार कंपनी चंगआन ऑटोमोबाइल


भारतीय कार बाज़ार के बढ़ते दायरे को देखते हुए चीन की मशहूर कार कंपनी चंगआन ऑटोमोबाइल भी भारत में कदम रखने की योजना बना रही है। कंपनी के अधिकारियों ने यहां प्रोडक्शन प्लांट लगाने और संभावित साझेदारों की संभावनाओं को टटोलने के लिए हाल ही में आंध्र प्रदेश और तमिलनाडू का दौरा भी किया।

चंगआन ऑटोमोबाइल के बारे में…

चांगआन ऑटोमोबाइल चीन की चौथी बड़ी कार कंपनी है। कंपनी का दावा है कि 60 से ज्यादा देशों में उसके 6,000 सेल्स एंड सर्विस सेंटर मौजूद हैं। अगर भारत में यह कंपनी कारोबार शुरू करती है, तो घरेलू बाजार में उतरने वाली यह पहली चीनी ऑटोमोबाइल कंपनी होगी।

चीनी बाज़ार में चांगआन ऑटोमोबाइल की सुज़ुकी, पीएसए पूज़ो-सिट्रोएन और फोर्ड के साथ साझेदारी है। चीन में कंपनी ने हैचबैक सेगमेंट में एल्सवीन वी-7 और बैनी, सेडान सेगमेंट में रेएटन और एडो, एसयूवी सेगमेंट में सीएक्स-70 और सीएस-75, एमपीवी सेगमेंट में एलोव और ऑनर कारों को उतारा हुआ है। इन सब के अलावा कंपनी ने एडो ईवी इलेक्ट्रिक सेडान भी उतार रखी है। देखने वाली बात यह होगी की भारत में कंपनी कौन से मॉडल के साथ उतरेगी।

भारतीय और चीनी ग्राहकों के कारों को खरीदने के पैटर्न में काफी समानताएं मौजूद हैं। दोनों ही देशों के ग्राहक कारों में फीचर्स और पीछे की तरफ ज्यादा जगह को अहमियत देते हैं। ऐसे में संभावना है कि कंपनी को भारत में अच्छी शुरुआत मिल सकती है, हालांकि भारतीय बाज़ार में इस चीनी कंपनी का अनजाना नाम जरूर एक बड़ी चुनौती साबित हो सकता है। भारत में जापानी और जर्मन कार कंपनियों को अच्छी प्रतिक्रिया मिलती आई है। चीनी प्रोडक्ट को लेकर यहां लोगों के मन में थोड़ी शंकाएं मौजूद रहती हैं।

स्रोत : कार देखो.कोम