पहले से ज्यादा सुरक्षित होगी रेनो क्विड


एनसीएपी क्रैश टेस्ट में जीरो स्टार रेटिंग मिलने के बाद रेनो ने अपनी एंट्री हैचबैक क्विड को सुरक्षित कार बनाने की बात कही है। कंपनी के मुताबिक जल्द ही क्विड में सेफ्टी फीचर्स बढ़ाए जाएंगे और यह कार 2019 से लागू होने वाले भारतीय सुरक्षा मानकों से भी ज्यादा सुरक्षित होगी। कंपनी ने यह कदम उठाने की घोषणा ऐसे वक्त में की है जब लचर सुरक्षा की वजह से भारतीय कारों की काफी आलोचना हो रही है।

रेनो इंडिया के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर सुमित सहानी ने बताया कि ‘एंट्री लेवल सेगमेंट में रेनो क्विडशुरूआत से ही काफी लोकप्रिय रही है। सेफ्टी फीचर्स शामिल होने के बाद निश्चित तौर पर यह कार और ज्यादा सफलता हासिल करेगी। मौजूदा भारतीय सुरक्षा मानकों पर कार अभी भी खरी उतरती है धीरे-धीरे हम इन्हें बढ़ा रहा हैं और यह साल 2017 और 2019 तक लागू होने वाले सुरक्षा मानकों से भी ज्यादा सुरक्षित होगी।’

एनसीएपी क्रैश टेस्ट के नतीजे आने के बाद रेनो ने कहा था कि क्विड के पहले से ज्यादा सुरक्षित वर्जन का सेफ्टी टेस्ट होना बाकी है। यह वर्जन पहले वाले वर्जन की तुलना में ज्यादा सुरक्षित होगा।

उन्होंने क्विड का प्रोडक्शन बंद होने और इसके इंजन संबंधी जुड़ी शंकाओ को भी खारिज़ किया। ऐसी चर्चाएं सामने आई थीं कि रेनो ने चेन्नई स्थित प्लांट में रेनो के इंजन में आई समस्या को देखते हुए प्रोडक्शन रोक दिया है।

रेनो क्विड की बात करें तो इसके केवल टॉप वेरिएंट में ऑप्शनल ड्राइवर एयरबैग दिया गया है। वहीं मारूति ने  एंट्री लेवल ऑल्टो-800 के बेस वेरिएंट से ही एयरबैग्स का ऑप्शन दिया है।

स्रोत : कार देखो.कोम