नई होंडा अकॉर्ड की टेस्टिंग शुरू, जानिए क्या है खास


नई होंडा अकॉर्ड की टेस्टिंग शुरू हो गई है। पहली बार कार टेस्टिंग के दौरान कैमरे में कैद हुई है। इसके डिजायन और इंजन में कई बदलाव हुए हैं। कार को देखकर कहा जा सकता है कि नई अकॉर्ड को बनाने में होंडा ने काफी मेहनत की है। नई अकॉर्ड सेडान को 2018 में उतारने की संभावना है। आइए जानते हैं क्या खास है नई अकॉर्ड में…

डिजायन

10वीं जनरेशन की अकॉर्ड को होंडा सिविक वाले नए मॉड्यूलर लाइटवेट चेसिस प्लेटफार्म पर तैयार किया गया है। पीछे से यह काफी आकर्षक नजर आती है। इसे फास्टबैक रूफलाइन दी गई है जो झुकी हुई रियर विंड स्क्रीन और बूट में जाकर मिलती है। ऐसा ही मौजूदा सिविक में भी है। आगे की तरफ ध्यान दें तो यहां भी होंडा सिविक की झलक दिखाई देती है। कार के फ्रंट और रियर में ऑल एलईडी लाइटें दी गई हैं।

प्लेटफार्म

2018 अकॉर्ड को तैयार करने में होंडा ने नए और लचीले चेसिस का इस्तेमाल किया है। इसी प्लेटफार्म पर नई सिविक भी बनी है। यही कारण है कि आने वाली अकॉर्ड मौजूदा वर्जन की तुलना में कम वजनी होगी। इसी प्लेटफार्म पर बनी होने के कारण नई सिविक की चौड़ाई और लम्बाई तो पुराने वर्जन जितनी है, लेकिन इसका वजन 30 किलोग्राम तक कम है।  नई अकॉर्ड के डायमेंशन में भी बदलाव होंगे।

इंजन

पावर स्पेसिफिकेशन की बात करें तो नई अकॉर्ड में मौजूदा 2.4 लीटर का आई-वीटेक इंजन दिया जाएगा। 3.5 लीटर का वी-6 इंजन आने की संभावना कम ही है। माना जा रहा है कि वी-6 इंजन की जगह होंडा नया 2.0 लीटर वीटेक टर्बो इंजन दे सकती है। संभावना है इसे हाइब्रिड वर्जन में भी उतारा जा सकता है। इंजन के साथ 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स स्टैंडर्ड रहेगा। वहीं ऑटोमैटिक में सीवीटी (कंटीन्यूसली वेरिएबल ट्रांसमिशन) का विकल्प मिलेगा।

संभावना है कि नई अकॉर्ड को साल 2017 में आयोजित होने वाले किसी ऑटो शो में पेश किया जाएगा। बाद में इसे बिक्री के लिए उतारा जाएगा। भारत में पहले 9वीं जनरेशन वाली अकॉर्ड को फेसलिफ्ट के तौर पर पेश किया जाएगा। 10वीं जनरेशन वाली अकॉर्ड साल 2019 तक आने की संभावना है।

स्रोत : कार देखो.कोम