दिल्ली चुनाव : प्रचार खत्म, सीमाओं पर नाकेबंदी


नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में निष्पक्ष, पारदर्शी व शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए दिल्ली की सभी सीमाओं पर कड़ी नाकेबंदी कर दी गई है। दिल्ली आने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है बल्कि बाहुबलियों पर भी अंकुश लगाया जा रहा है तथा असामाजिक तत्वों की धरपकड़ शुरू कर दी गई है। पुलिस प्रशासन को चुनाव की दृष्टि से चुनाव पूर्व सुरक्षा के कड़े इंतजाम करने के निर्देश दिए गए हैं। राजधानी में चुनाव के दौरान किसी भी गड़बड़ी की आशंका को समाप्त करने के लिए चुनाव आयोग ने भी सख्ती बढ़ा दी है। राजधानी की सभी सीमाओं पर नाकेबंदी कर वहां पुलिस पिकेट तैनात कर दिए गए हैं। आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई में भी तेजी लाई गई है। मुख्य चुनाव कार्यालय के अनुार अभी तक १७० एफआईआर राजनीतिक दलों के खिलाफ दर्ज कराई गई हैं जिनमें से सर्वाधिक ७० एफआईआर आम आदमी पार्टी के खिलाफ दर्ज कराई गई हैं जबकि भाजपा के खिलाफ ३७ व कांग्रेस के खिलाफ ३३ तथा बसपा के खिलाफ १२ एफआईआर दर्ज कराई गई हैं। मुख्य चुनाव कार्यालय व जिला चुनाव कार्यालयों को अभी तक चुनाव आचार संहिता से संबधित ४७५० शिकायतें प्राप्त हुई हैं जिनमें से ४६७६ शिकायतों का निस्तारण करने का दावा किया गया है। इन शिकायतों में ४३६२ शिकायतें आनलाइन प्राप्त हुई थी। गत दिवस एक ही दिन में १७८ शिकायतें प्राप्त हुई जिनमें से १६९ शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है। अवैध रूप से लगाये गये होर्डिग्स हटाने की कार्रवाई के तहत सार्वजनिक संपत्ति से अब तक १७८५ होर्डिग हटाकर १५२ एफआईआर दर्ज कराई गई हैं जबकि निजी संपत्तियों से २५४ होर्डिग हटाए गए हैं। असामाजिक तत्वों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के तहत अभी तक २७३४२ लोगों को सीआरपीसी व डीपी एक्ट के तहत पाबंद किया गया है। अभी तक कुल १२८३ लाइसेंसी हथियारों को जमा करा लिया गया है तथा ३५ अवैध हथियार बरामद किए गए हैं और ११३१ कारतूस बरामद किए गए हैं।