कौन बनेगा वित्तमंत्री? PM मोदी की पसंद के ये नेता अरुण जेटली को दे रहे टक्कर


(PC : rediff.com)

लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मिली बम्पर जीत के बाद अब नजरें मोदी-मंत्रिमंडल के गठन पर टिक गई हैं। किसी सांसद को कौन का मंत्री पद मिलेगा इसको लेकर अभी से अटकलें लगाई जा रही हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने संसद के केंद्रीय कक्ष में संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद अपने भाषण में इस ओर इशारा भी किया था। मोदी ने कहा था कि नये मंत्रिमंडल में किसको स्थान मिलेगा, कोन मंत्री बनेगा इसको लेकर अखबारों में कई नाम सुर्खियों में हैं। लेकिन अखबार की सुर्खियों में आ जाने से मंत्री पद नहीं मिल जाता। इसके लिये सांसदों को पीएमओ से आधिकारिक सूचना का इंतजार करना चाहिये।

खैर, जहां तक अकटलों का संबंध है सर्वाधिक चर्चा वित्तमंत्री पद को लेकर हो रही हैं। लोग इसको लेकर जितने मुंह उतनी बातें कर रहे हैं कि क्या इस बार भी वित्त मंत्री के रूप में अरुण जेटली को रीपीट किया जायेगा या उनके स्थान पर वित्त मंत्रालय का कार्यकारी हवाला देखने वाले पियुष गोयल को स्थायी रूप से जिम्मेदारी द जायेगी।

जानकारों का मानना है कि पिछली लोकसभा में वित्त मंत्री के रूप में पांच साल का पूरा कार्यकाल पूरा करने वाले अरुण जेटली को इस बार वित्तमंत्री नहीं बनाया जायेगा। इसके पीछे का कारण उनकी अस्वस्थता माना जा रहा है।

एक न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि चार नामों पर चर्चा चल रही है। और इन चार चेहरों में पीयुष गोयल का नाम सबसे आगे है। इस सूची में दूसरा नाम अमित शाह का भी है। दावा किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री इस पद पद अपने किसी विश्वसनीय चेहरे को ही बैठाना चाहते हैं। ऐसे में अमित शाह से बेहतर विकल्प इस श्रेणी में और कोई नहीं हो सकता।

सूत्रों के अनुसार उम्र के हिसाब से भी अरुण जेटली से बेहतर विकल्प पियुष गोयल ही हैं। इस विषय पर जब मीडिया ने अरुण जेटली से प्रश्न करने की कोशिश की थी तो उन्हें सवाल टाल दिया था।