गुजरात से टल गया वायु चक्रवात का संकट, मुड़ा ओमान की ओर


(Photo Credit : dnaindia.com)

भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि चक्रवात वायु गुजरात से नहीं टकराएगा। यह वेरावल, पोरबंदर, द्वारका के पास से गुजरेगा। भारतीय मौसम विभाग की वैज्ञानिक मनोरमा मोहंती ने कहा, चक्रवात गुजरात से नहीं टकराएगा। यह वेरावल, पोरबंदर और द्वारका से होकर गुजरेगा। इसका प्रभाव तटीय क्षेत्रों में देखा जा सकता है। इन क्षेत्रों में तेज हवाएं और भारी बारिश हो सकती है। साथ ही, गुजरात में हाई अलर्ट बना रहेगा क्योंकि मौसम बहुत खराब हो सकता है। इसके अतिरिक्त, समुद्र भी रूद्र रूप  ले सकता है। कई इलाकों में भारी बारिश हुई है और तेज़ हवाएँ चल रही हैं। किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है। चक्रवाती हवा ने रात को अपना रास्ता बदल लिया है। गुजरात में आने वाले चक्रवात ने अपना रास्ता बदल कर समुद्र में जाना शुरू कर दिया है।

रिपोर्ट के अनुसार, आधी रात में वायु चक्रवात ने अपनी दिशा बदलनी शुरू कर दी, लेकिन इसकी गति बढ़ गई है। दोपहर बाद, सरकार तूफान की स्थिति और गुजरात के वातावरण को लेकर फिर से घोषणा कर सकती है। वर्तमान में वायु  200 किमी दूर ओमान की ओर बढ़ रहा है, जिससे गुजरात के तट पर भारी बारिश हो सकती है। हालांकि तूफान गुजरात से हट गया, लेकिन उसे 15 जून तक सतर्क रहने के लिए कहा गया है।

मौसम एजेंसी के मुताबिक, वायु का असर गुजरात में नहीं दिखेगा। यह तूफान पोरबंदर के पास से गुजरने की संभावना है। वायु चक्रवात कम दबाव से एक भयंकर तूफान में बदल गया। वर्तमान में वायु श्रेणी 2 में आता है, इसके श्रेणी 1 में परिवर्तित किए जाने की संभावना है।