‘वायु’ तूफान टला पर खतरा अभी भी कम नहीं, सभी क्षेत्र 15 तक हाई अलर्ट पर


(Photo Credit : jagranimages.com)

मौसम विभाग ने वायु तूफान को लेकर एक बड़ी भविष्यवाणी की है। मौसम विभाग के अनुसार, वायु तूफान अब गुजरात के तट के लिए खतरा नहीं होगा, जिसका अर्थ है कि गुजरात पर वायु चक्रवात का प्रभाव कम हो गया है। हालाँकि, इसका जोखिम अभी तक पूरी तरह से टला नहीं है। क्योंकि, सौराष्ट्र के तटीय इलाकों में वायु के कारण भारी हवाओं के साथ बहुत तेज़ बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के जानकारी के अनुसार, गिर सोमनाथ और दीव से होकर तूफान आगे बढ़ जाएगा। यही नहीं, बल्की मौसम विभाग द्वारा पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, सोमनाथ, कांडला, द्वारका में भारी बारिश की भविष्यवाणी की गई है।

इसके अलावा, मौसम विभाग को 15 जून तक सभी स्थिति पर नजर रखने के लिए कहा गया है। गिर सोमनाथ और दीव से होकर तूफान समुद्र की ओर बढ़ जाएगा। यानी 15 जून तक गुजरात पर वायु का खतरा बना रहेगा जिसके कारण सभी अभी भी हाई अलर्ट पर हैं। वेरावल से 110 किमी दूर तूफान ने दिशा बदल दी है। लेकिन हवा की गति 135 से 160 किमी रहेगी। इसका असर गुजरात के तटीय इलाकों और खासकर वेरावल और द्वारका में दिखेगा।

वायु तूफान के प्रभाव के कारण, पोरबंदर, जूनागढ़ में भारी बारिश की भविष्यवाणी की गई है और कांडला और द्वारका में भी भारी बारिश की भविष्यवाणी की गई है। उत्तर-पश्चिम की ओर आने वाले तूफान के कारण तटीय क्षेत्रों में बारिश और तेज़ हवाएँ चलेंगी।