गुजरात : वायु चक्रवात से निपटने युद्ध स्तर पर तैयारियां, ट्रेन-रेल सेवा प्रभावित


(PC : Twitter/@weatherindia)

गुजरात के सौराष्ट्र समुद्र तटीय इलाकों की ओर बढ़ रहे वायु चक्रवात से निपटने के लिये राज्य सरकार ने युद्ध स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी हैं। वहीं प्रदेश के कई इलाकों में चक्रवात का असर भी दिखना शुरू हो गया है। तेज हवाएं चलने लगी हैं, बादल गहरा गये हैं। तापमान में गिरावट महसूस की गई है। मुंबई में भी मौसम बदल गया है।

 

वायु चक्रवात गुजरात के तट से ३०० किमी दूर है। गीर सोमनाथ के सूत्रापाडा समुद्र तट पर हवा की गति में बढ़ाातरी के साथ धीरे-धीरे बारिश हो रही है। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने राज्य के आला अधिकारियों के साथ बैठक की है। सरकार ने सर्वाधिक प्रभावित इलाकों से लोगों को स्थानांतरण शुरू कर दिया है। अब तक करीब १.३० लाख लोगों को सुर‌िक्षत जगहों पर शिफ्ट किया जा चुका है। पहले ऐसा आकलन लगाया गया था कि हवा की गति १२० किमी प्रति घंटा रह सकती है, लेकिन अब वह १५० से १७० किमी की गति रह सकती है, ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है। ऐसे में वायु चक्रवात जिन जगहों से गुजरेगा वहां स्थिति गंभीर हो सकती है।

 

बता दें कि जब कभी चक्रवात की गति ५० किमी या उससे अधिक होती है, तो प्रशासन बिजली की आपूर्ति बंद कर देता है। वायु चक्रवात का लैन्डफॉल अर्धरात्रि के समय है। एनडीआरएफ की ४७ टीमें तैनात की जा चुकी हैं। ११ अतिरिक्त टीमें और बुलाई गई हैं। वायु सेना, नौसेना, कोस्ट गार्ड, बीएसएफ के जवान भी राहत और बचाव के लिये तैयार रखे गये हैं। भारत सरकार, केंद्रीय गृह मंत्रालय, राज्य सरकार लगातार संपर्क बनाये हुए हैं। प्रभावित इलाकों के बंदरगाहों को कामकाज रोक दिया गया है।

ट्रेन सेवा प्रभावित

पश्चिम रेलवे ने वेरावल, ओखा, पोरबंदर, भावनगर, भूज और गांधीधाम की ओर जाने वाली सभी यात्री गाड़ियों और मेल/एक्सप्रेस ट्रेंनों को बुधवार शाम ६ बजे बाद से लेकर १४ जून सुबह तक या तो रद्द कर दिया गया है या आधे रास्ते से रोक दिया गया है। विभाग ने प्रभावित इलकों से लोगों को सुरक्षित निकालने के लिये दो विशेष ट्रेनें चलाई जा रही हैं। ये ट्रेन ओखा से बुधवार को सायं पौने छे बजे और रात ८ बजे तक राजकोट और अहमदाबाद के लिये रवाना होंगी।

हवाई सेवाएं प्रभावित

वहीं चक्रवात के कारण अहमदाबाद से पोरबंदर, दीप, कंडला, मुंद्रा और भावनगर के लिये जाने वाली सभी फ्लाईट्स रद्द कर दी गई हैं।