एक ओर ‘वायु’ का भय, दूसरी ओर उत्तर गुजरात के कुछ इलकों में भूकंप के झटके


CP : Youtube

एक ओर गुजरात के पश्चिमी तटीय इलाकों वेरावल से लेकर पोरबंदर तक भयंकर ‘वायु चक्रवात’ के टकराने की प्रबल संभावना है, वहीं दूसरी ओर प्रदेश के कुछ इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किये गये।

बुधवार को दोपहर सवा चार बजे उत्तर गुजरात के कुछ इलाकों में २.३ की तीव्रता के भूकंप के हलके झटके महसूस किये गये। एक ओर चक्रवात का संकट और दूसरी ओर भूकंप के झटके आने से बनासकांटा, अरावली, महेसाणा और पाटण इलाकों में लोगों में दहशत देखी गई।

विगत ४ जून को पालनपुर, डीसा, अंबाजी सहित समग्र बनासकांठा जिले में ४.८ की तीव्रता का भूकंप आया था। भूकंप का मुख्य केंद्र अंबाजी से २४ किमी दूर भायला गांव में स्थित था। ऐसे में आज अनुभव किये गये ताजा झटकों का केंद्र पालनपुर से ३२ किमी दूर अमीरगढ़ के केंगोरा गांव में दर्ज किया गया।

राज्य का प्रशासन चक्रवात से निपटने की पूरी तैयारी कर चुका है। लोग भी अपने स्तर पर सतर्कता बरते हुए हैं, लेकिन भूकंप के झटकों ने उन्हें और हिला कर रख दिया।