सूरत अग्नी दुर्घटना में PAAS ने कमिश्नर से की ये मांगें


(Photo Credit : khabarchhe.com)

सूरत में आग की घटना के बाद, सूरतियों में सिस्टम के खिलाफ गुस्सा बढ़ गया है। पुलिस ने ट्यूशन संचालकों और कॉम्प्लैक्स के मालिकों के खिलाफ अपराध दर्ज किया है, लेकिन पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (PAAS) ने इस घटना के लिए जिम्मेदार नगर निगम और दमकल विभाग के अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

PAAS कन्वीनर धार्मिक मालवीया के नेतृत्व में PAAS के कार्यकर्ताओं ने सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश कुमार शर्मा को आवेदन देकर मांग की थी कि अगले 48 घंटों के भीतर सूरत शहर में जितने भी अवैध निर्माण कार्य हैं और गुंबद है उन्हे हटा दिया जाए और इस घटना के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की जाए।

PAAS द्वारा कमिश्नर सतीश कुमार शर्मा को दिए गए आवेदन के अनुसार, यह कहा गया है कि इस घटना में तत्कालिक स्तर पर जांच की जानी चाहिए और न केवल संचालकों और बिल्डरों, बल्कि साथ-साथ नगर निगम और अग्निशमन विभाग के अधिकारियों पर भी कार्यवाही की जाए।

गौरतलब है कि शुक्रवार शाम को हुई इस भीषण आग में 23 बच्चों की मौत हो गई और 20 से अधिक बच्चे अभी भी उपचाराधीन हैं। पुलिस ने इस घटना में ट्यूशन क्लास के मैनेजर को हिरासत में लिया है और दूसरी, तीसरी और चौथी मंजिल के मालिकों के विरुद्ध पुलिस ने अपराध दर्ज किया है। पूरे मामले की जांच पुलिस ने क्राइम ब्रांच को सौंप दी है।