सूरत : शराबबंदी पर नेताओं की शाब्दिक जंग के बीच बुटलेगरों की गोलीबारी की भेंट चढ़ा निर्दोष युवा


(प्रतिकात्मक तस्वीर)

प्रदेश में शराब बिकती है या नहीं और कितने पैमाने पर लोग इसका अवैध रूप से उपभोग करते हैं, इसको लेकर नेताओं में बहस छिड़ी हुई है। दिखावे के लिये छापे मारे जा रहे हैं, और प्रतिष्ठा के लिये ये उपलब्धियां सुर्खिंयां बन रही हैं। लेकिन वास्तवित धरातल पर सच्चाई यह है कि शराब का अवैध कारोबार करने वाले लोग छुट्टे घूम रहे हैं।

सूरत में एक ऐसे ही वाकये में दो बुटलेगरों के बीच किसी बात पर दंगल हो गया और मामला गोलीबारी तक पहुंच गया। दुर्भाग्य से इस गोलीबारी की चपेट में एक निर्दोष युवा चढ़ गया।

मामला पलसाना क्षेत्र के का है जहां ओड़िसा के रहने वाले बुटलेगरों के दो गुटों के बीच झगड़ा हो गया और दोनों गुटों ने एक-दूसरों पर गोलियां दाग दीं। देशी तमंचे से 5 राऊंड फायरिंग की गई। वहां से एक युवा गुजर रहा था और बुटलेगरों द्वारा दागी गई पांच गोलियों में से तीन इन युवा की छाती भेद गई और उसकी मौत हो गई।

नेताओं के बीच शाब्दिक जंग में इस प्रकार के मुद्दे चर्चा का विषय नहीं बनेंगे। बेचारी जनता नियम-कानूनों का पालन करती रहेगी, कतारों में खड़ी होती रहेगी और जीवन का संघर्ष करती रहेगी।