अब ममता की नैया पार लगाएंगे प्रशांत किशोर


(File Photo: IANS)

कोलकाता (ईएमएस)। लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की हालत कमजोर साबित हुई है। यहां भाजपा ने सेंधमारी करते हुए 42 में से 18 सीटें जीत ली है। अब ममता बनर्जी अपने किले को फिर से मजबूत करने के लिए राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर की मदद लेेने जा रही है।

ममता ने प्रदेश में 2021 में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए प्रशांत की सेवाएं लेना तय किया है। सूत्रों के मुताबिक प्रशांत ने गुरुवार को कोलकाता में ममता से मुलाकात की। करीब 2 घंटे तक चली मुलाकात के दौरान ममता ने प्रशांत से टीएमसी के लिए काम करने का प्रस्ताव दिया, जिस पर उन्होंने अपनी सहमति जता दी है। प्रशांत की टीम अगले महीने से टीएमसी के लिए काम करना शुरू कर देगी। ममता ने 2011 में बंगाल की सियासत में 34 साल से काबिज वाम सरकार को करारी शिकस्त दी थी। हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में सूबे की 42 सीटों में से भाजपा ने 18 और टीएमसी ने 22 पर कब्जा किया। 2014 में भाजपा सिर्फ 2 सीट ही जीत पाई थी। इस बार भाजपा का वोट शेयर भी बढ़ा है। यह ममता के लिए चिंता का विषय बनकर उभरा है।