पीएम मोदी ने कांग्रेस को ‘प्रेम वाली डिक्शनरी’ से निकली गालियों पर घेरा!


Photo/Twitter

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चुनाव प्रचार में विरोधियों द्वारा उठाये जा रहे मुद्दों व भाषणों में उपयोग में लाये जाने वाले संबोधनों को ही हथियार बनाकर पेश कर देते हैं। पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने भाषणों और पत्रकारों को दिये साक्षात्कारों में बार-बार कह रहे हैं कि पीएम मोदी के मन में नफरत भरी है और इसका जवाब वे प्यार से देंगे। वे मोदी की नफतर को प्यार में बदलेंगे। लेकिन मोदी ने विपक्ष के इसी प्यार को ‘प्यार वाली डिक्शनरी’ नाम दे देकर घेरना शुरू कर दिया है।

हरियाणा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘मुझे गाली देते हुए इन लोगों ने कितनी बार मर्यादा तार-तार की है, इनकी प्रेम वाली डिक्शनरी से पता चलता है। मुझे स्टूपिड पीएम कहा गया, जवानों के खून का दलाल कहा गया। इनके प्रेम की डिक्शनरी से मेरे लिये गद्दाफी, मुसोलोनी और हिटलर जैसे शब्द निकलते हैं।’

गौरतलब है कि चुनावों में विरोधियों द्वारा जब-जब कोई आपत्तिजनक शब्दप्रयोग मोदी के लिये किया जाता रहा है, मोदी उस शब्द को पकड़ कर अपने भाषण में बात को इस तरह पेश करते हैं कि मतों का धु्वीकरण हो जाता है और उन्हें सियासी लाभ हो जाता है। राजनीतिक पंडित इसलिये कांग्रेस को गाहे-बगाहे सलाह देते फिरते हैं कि मोदी पर व्यक्ति टिप्पणियां करने से बचना चाहिये।

बता दें कि कांग्रेसी नेता संजय निरुपम ने वाराणसी में चुनाव प्रचार के दौरान मोदी को आधुनिक समय का औरंगजेब करार दिया है। उधर बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मोदी के लिये ‘जल्लाद’ शब्दप्रयोग किया है। देखना है मोदी चुनाव प्रचार शेष दिनों में अपने भाषणों को किस ओर मोड़ते हैं।