पित्रोदा के ‘हुआ तो हुआ’ वाले बयान पर पीएम मोदी ने कांग्रेस को लपेटा


(Photo : EMS)

ओवरसिज़ कांग्रेस के प्रमुख साम पित्रोदा ने गुरुवार को १९८४ के सिक्ख दंगों के संबंध में एक बयान दिया था जिसमें उन्होंने ‘हुआ तो हुआ’ शब्दप्रयोग किया। इस संबंध में पित्रोदा ने शुक्रवार को स्पष्टीकरण भी दिया। लेकिन पीएम नरेन्द्र मोदी ने साम पित्रोदा के इस बयान को पकड़ कर कांग्रेस पर कड़ा हमला बोल दिया है।

रोहतक में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने १९८४ के सिक्ख दंगों का जिक्र करते हुए कांग्रेस को घेरा और कहा कि आपको कांग्रेस और उसके साथियों से सावधान रहने की जरुरत है। कांग्रेस ने 70 साल तक देश कैसे चलाया है, उनका दिमाग कैसे चलता है, उनकी खोपड़ी में कैसा अहंकार भरा है ये कल केवल 3 शब्दों में उन्होंने खुद ही समेट दिया।

कल कांग्रेस के बड़े नेताओं में से एक ने कहा कि 1984 का सिख दंगा “हुआ तो हुआ”। ये नेता गांधी परिवार के सबसे बड़े राजदार है, ये राजीव गांधी के अच्छे दोस्त और राहुल गांधी के गुरु हैं। इनके लिए जीवन का कोई मूल्य नहीं है।

मोदी ने आगे कहा कि हजारों सिखों को घरों से बाहर निकालकर मारा गया, लेकिन आज कांग्रेस कह रही है “हुआ तो हुआ”। हजारों सिखों की घर-दुकानें जला दी गई, लेकिन आज कांग्रेस कह रही है “हुआ तो हुआ”। हरियाणा, हिमाचल, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और अन्य प्रदेशों में सिखों को निशाना बनाया गया। इसका नेतृत्व कांग्रेस ने किया। ये पाप कांग्रेस के हर छोटे-बड़े नेता ने किया, लेकिन आज कांग्रेस कह रही है “हुआ तो हुआ”।

 

वैसे भी पीएम मोदी जनता की नब्ज पकड़ने में माहिर हैं। लोकसभा चुनाव के आखिरी दो चरणों में उन्होंने राजीव गांधी को मुद्दा बनाने की कोशिश की। इसकी आलोचना भी हुई, लेकिन स्थिति सबसे सामने है। आखिर राजीव गांधी को मुद्दा बनाने के साथ अब चर्चा सिक्ख दंगों की होने लगी है। चुनाव पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में हैं, जहां सिक्खों की आबादी सर्वाधिक है। ऐसे में कहना होगा कि चुनावी बाजीगर मोदी के पैंतरें में पड़कर विरोधी कहीं अपना नुकसान न करवा लें। साम पित्रोदा के तीन शब्द ‘हुआ तो हुआ’ कहीं कांग्रेस को इन तीन राज्यों में भारी न पड़ जाएं।