NSG सदस्यता को लेकर मोदी मांगेंगे सपोर्ट


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 4 जून को होने वाली अमेरिका यात्रा से पहले भारत ने न्‍यूक्‍िलयर सप्‍लायर ग्रुप में सदस्‍यता के लिए आवेदन कर दिया है। अमेरिकी दौरे के दौरान एनएसजी की सदस्‍यता पर मुहर लगवाना मोदी की पहली प्राथमिकता होगी।

भारत ने इसकी सदस्यता के लिए पाकिस्‍तान की ओर से भेजे गए आवेदन से सात दिन पहले 12 मई को आवेदन कर दिया था। हालांकि, पाकिस्तान को जब इसका पता चला, तो उसने चीन की मदद से अड़ंगा लगा दिया था।

मगर, अब 9-10 जून को होने वाली एनएसजी की बैठक इस मामले में अहम साबित होगी। एक वरिष्‍ठ राजनायिक ने नाम जाहिर न करने के अनुरोध पर बताया कि पीएम मोदी खुद एनएसजी में मेंबरशिप के लिए 48 देशों के प्रमुख से बात कर रहे हैं।

भारत को एनएसजी की सदस्यता के लिए आवेदन करने में सात साल का समय लग चुका है। इस दौरान भारत ने कई मंचों पर एनएसजी की सदस्‍यता हासिल करने के लिए चर्चा की है। 9-10 जून को होनी वाली एनएसजी टेक्नीकल कमेटी की मीटिंग के लिए भारतीय अफसर लगातार अमेरिका से बात कर रहे हैं। इसका मकसद बैठक में अमेरिका का समर्थन हासिल करना है। इसी मीटिंग में भारत की फाइल पर चर्चा होनी है।