गडकरी ने विकास कार्यों को गिनाते समय पाकिस्तान को दी चेतावनी


(Photo Credit : deccanherald.com)

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि अगर पाकिस्तान आतंकवाद पर रोक नहीं लगाता है, तो भारत पाकिस्तान में जाती नदियों के प्रवाह को रोक सकता है। गडकरी ने संवाददाताओं को बताया कि 1960 में हुई जल संधि के अनुसार, भारत की 6 नदियों में से 3 का पानी पाकिस्तान को देने का निर्णय लिया गया था। उन्होंने कहा कि संधि में लिखा गया है कि आपस में प्रेम और भाईचारे के कारण नदियों का पानी पाकिस्तान को दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर पाकिस्तान भारत के खिलाफ आतंकवाद को नियंत्रित नहीं करता है, तो भारत सरकार पाकिस्तान में जाने वाली नदियों के प्रवाह को रोक सकता है।

नितिन गडकरी ने कहा कि केंद्र सरकार देश की सभी नदियों को जोड़ने की योजना बना रही है, जिससे देश के सभी राज्यों में पानी की समस्या दूर होगी। उन्होंने कहा कि बांध का निर्माण 6 राज्यों में किया जा रहा है, जिसमें से शाहपुर कंडी का बांध तैयार हो चुका है। उन्होंने कहा कि 26 हजार एकड़ में निर्मित शाहपुर कंडी बांध का पानी पंजाब और हरियाणा को दिया जाएगा। यहां 206 मेगावाॅट बिजली का उत्पादन भी किया जाएगा। पंजाब में पटियाला फीडर से जालंधर, कपूरथला और होशियारपुर के किसानों को फायदा होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पांच वर्षों के दौरान किए गए विकास कार्यों के बारे में बात करते हुए, गडकरी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी विकास कार्यों के नाम पर चुनाव लड़ रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने देश में 4 और 6 सड़क वाले मार्ग बनाकर देश में क्रांति ला दी है। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस-वे का निर्माण दिल्ली से कटरा तक किया जा रहा है, जिससे दिल्ली से कटरा की दूरी पहले से कम हो कर 572 किलोमीटर रह जाएगी। पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहेब के लिए बनाए जा रहे गलियारे के लिए गडकरी ने कहा कि वह 3-4 महीने में तैयार हो जाएंगे।