विरल देसाई द्वारा तैयार शहीद स्मृतिवन और शहीद स्मारक का एम. एस. बिट्टा के हाथों उद्घाटन


सूरत । ग्रीनमेन विरल देसाई ने उनके हार्ट्स एन्ड फाउन्डेशन द्वारा सूरत में तैयार किए गुजरात के पहले अर्बन फोरेस्ट का आज ओल इन्डिया एन्ट्री टेररिस्ट फ्रन्ट के चीफ एम. एस. बिट्टा के हाथों उद्घाटन हुआ था। उधना रेलवे स्टेशन के आरपीएफ कोलोनी में तैयार हुए यह अर्बन फोरेस्ट को पुलवा में शहीदों को अर्पण किया था। शहीद स्मृति वन नामक यह अर्बन फोरेस्ट में उन्नीस हजार स्कवेयर फिट में ग्यारह सौ पौधा का प्लान्टेशन किया गया था।

अर्बन फोरेस्ट में जापान की मियावाकी पद्धति से प्रेरणा लेकर पीपला, आंबली, सरगवा, बोरसली, गरमाला और करंज जैसे भविष्य में घटाटोप होने वाले वृक्षों व जांबु, बादाम, जमरूख, आम जैसे फल देने वाले टोटल अठरा प्रकार के पौधे का प्लान्टेशन किया गया था। साथ ही चंपो, अरेका, स्पाईडर और स्नेक जैसे प्लान्ट का भी प्लान्टेशन किया गया था। शहीद स्मृति वन के उद्घाटन के तौर पर एम. एस. बीट्टा ने कहा कि हमारे पर्यावरण के अंदर प्रदूषण भी एक आतंकवाद ही है और यह आतंकवाद के खिलाफ हम सब इकट्ठा होकर लड़ना पड़ेगा। विरल देसाई जैसे पर्यावरणवादीयों जब पर्यावरण सुरक्षा के लिए इतना प्रशंसनीय कार्य कर रहे हैं ऐसे में हम उन्हें शुभेच्छा देते हैं और साथ ही प्रदूषण नामक आतंकवादी के सामने लड़ने हम उनके साथ मिलकर कार्य करेंगे और चलेंगे।

विरल देसाई ने शहीद स्मृति वन के लिए कहा कि देश के नौ जवानों अगर देश के लिए अपने जान की परवा करे बीना कार्य करते हैं तो हम भी क्या हमारी तरह हमा रेदेश के लिए कुछ नहीं कर सकते, एक पर्यावरण प्रेमी के तौर पर हमने यह बाबत पर गहन सोचा है और तय किया है कि मुझे मेरा पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य करना ही है, किन्तु मेरे यह कार्य को मैं देश के शहीदों के लिए अर्पण करता हूं। यानि मैं यह शहीद स्मृति वन तैयार किया और उन्हें अर्पण किया।

विरल देसाई ने साथ ही अर्बन फोरेस्ट की हाल के समय में देश में काफी जरूरत के विषय पर बात की थी। उन्होंने कहा कि माईक्रो फोरेस्ट के कई फायदे है जिसमें शहरों के बीचोबीच लुप्त हो रहे पक्षियों की रक्षा मिल सके। प्रदूषण की मात्रा में कमी आए, ओक्सिजन चेम्बर्स तैयार हो जाए और ध्वनि प्रदूषण में भी राहत मिले। शहीद स्मृति वन के उदघाटन के बाद एम. एस. बिट्टा उधना रेलवे स्टेशन पर पहुंचे थे। जहां उन्हें विरल देसाई के हार्ट्स एट वर्क फाउन्डेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि तौर पर उपस्थिति दर्ज कराई थी। इस कार्यक्रम में उन्हें उधना स्टेशन पर पर्यावरण का संदेश देते हुए ग्रीन गेलेरी व शहीद स्मारक लोकार्पण किया था।