मोदी सरकार 2 के कार्यकाल में RBI द्वारा पहला उपहार, रेपो रेट में कटौती


(Photo Credit : twitter.com/htTweets/)

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में भारतीय रिज़र्व बैंक ने पहला बड़ा तोहफा दिया है। RBI ने एक बार फिर रेपो रेट घटा दिया है। RBI की मौद्रिक समीक्षा बैठक में 0.25 बैंक अंकों की कमी की गई है। इसके साथ ही अब नया रेपो रेट 5.75% हो गया है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के दूसरे कार्यकाल में यह पहली मौद्रिक समीक्षा बैठक थी।

आरबीआई ने पिछली दो बैठकों में भी रेपो दर में क्रमशः 0.25% की गिरावट की है। यानी आरबीआई ने जून में लगातार तीसरी बार रेपो रेट घटाया है। दूसरी ओर, RBI के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है, जब RBI गवर्नर की नियुक्ति के बाद लगातार तीसरी बार रेपो दर कम की गई है। गौरतलब है कि दिसंबर में उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद शक्तिकांत दास को राज्यपाल नियुक्त किया गया था।

आपको RBI की रेपो दर को कम करने का लाभ मिलेगा। आरबीआई के इस फैसले के बाद, बैंक ब्याज दरों को कम करने के लिए मजबूर होंगे। इससे उन लोगों को भी फायदा होगा, जिन्होंने होम लोन या ऑटो लोन लिया है। उनको ईएमआई में फायदा होगा। नए ऋणों पर भी, पहले के मुकाबले राहत मिलेगी।