एग्जिट पोल के बाद एमपी में हलचलें तेज, बीजेपी का दावा- अल्पमत में सरकार, विशेष सत्र बुलाने की मांग


लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल के नतीजों के बाद मध्य प्रदेश में भाजपा ने कमलनाथ सरकार के अल्पमत में जाने का दावा किया है।

भोपाल । लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल के नतीजों के बाद केंद्र के साथ ही राज्यों में भी सियासी हलचल तेज हो गई है। मध्य प्रदेश में भाजपा ने कमलनाथ सरकार के अल्पमत में जाने का दावा किया है। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को चिट्ठी लिखकर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग की है। कमलनाथ सरकार ने भाजपा पर पलटवार करते हुए कहा कि उनकी सरकार मजबूत है। मध्य प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने दावा किया, ‘कमलनाथ सरकार अपने आप गिर जाएगी। मैं खरीद-फरोख्त पर यकीन नहीं करता।

भाजपा को कांग्रेस का जवाब

वहीं प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने भाजपा को जवाब देते हुए कहा, ‘सरकार, मजबूत है, भाजपा दिन में सपने देखा बंद करे।’ कांग्रेस नेता मुकेश नायक ने कहा, ‘जो संसदीय नियम और प्रक्रिया है, उसके मुताबिक विधानसभा का विशेष सत्र तभी बुलाया जा सकता है, जब एक निश्चित अनुपात में विधायक मांग करें।’

मुख्यमंत्री भोपाल पहुंचे

मुख्यमंत्री कमलनाथ दिल्ली प्रवास पर थे। सोमवार की दोपहर वह भी भोपाल वापस लौट आये हैं। भाजपा नेता जिस तरह से सरकार गिराने को अमादा है। उसके बाद कांग्रेस नेभी अपने समर्थक सपा, बसपा निर्दलीय विधायकों के साथ साथ भाजपा के विधायकों से भी संपर्क बनाकर भाजपा के प्रयासों को नाकाम करने में जुट गये हैं। कांग्रेस के मंत्री शीर्ष नेता भी सक्रिय हो गये हैं।

एमपी में सियासी गणित

साल 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने शिवराज सरकार को शिकस्त देकर सत्ता हासिल की थी। 230 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस को 114, बीजेपी को 109, बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) को 2, समाजवादी पार्टी (एसपी) को एक और निर्दलियों को 4 सीटों पर जीत मिली थी। बाद में बीएसपी और अन्य निर्दलीय विधायकों ने कमलनाथ सरकार को समर्थन देने का ऐलान किया। लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल में मध्य प्रदेश में अधिकांश सीटें भाजपा के खाते में जाने की बात कही गई है। एग्जिट पोल में बीजेपी को 24 सीटें मिलने का अनुमान है, वहीं 2014 में पार्टी को 27 सीटें मिली थीं। वहीं कांग्रेस को इस बार 5 सीटें मिल सकती हैं, जबकि 2014 में कांग्रेस को 2 सीटें मिली थी।

– ईएमएस